छह साल में हर पाँचवां बच्चा मोटा

  • 28 नवंबर 2015
इमेज कॉपीरइट SPL

इंग्लैंड के स्वास्थ्य और सामाजिक सूचना केंद्र के मुताबिक़ पिछले साल प्राइमरी स्कूल में दाख़िला लेते समय दस में से एक बच्चा मोटापे का शिकार था, लेकिन एक साल के बाद इनकी संख्या दोगुनी हो गई है.

साल 2014-15 का यह आंकड़ा इंग्लैंड के गवर्नमेंट्स नेशनल चाइल्ड मेज़रमेंट प्रोग्राम ने सामने रखा है. इसमें राज्य के सभी प्राइमरी स्कूल शामिल हैं.

पिछले वर्ष पांच साल के क़रीब 9.5 फ़ीसदी बच्चे मोटापे का शिकार थे, लेकिन एक साल के बाद यानि छह साल का होने पर ऐसे बच्चों की संख्या 19.1 फ़ीसदी हो गई है.

इस अभियान में लगे लोगों का कहना है कि इन आंकड़ों के बाद लोगों को सावधान होना पड़ेगा.

इमेज कॉपीरइट Other

इसमें कहा गया है कि समृद्ध इलाकों की तुलना में पिछड़े इलाक़ों में रहने वाले बच्चों में मोटापे का शिकार होने की आशंका ज़्यादा देखी गई.

हालांकि चार और पांच साल के बच्चों में मोटापे का आंकड़ा थोड़ा कम हुआ है.

इस आंकड़े को तैयार करने के लिए सबसे पहले बच्चों के वजन और उनकी ऊंचाई को मापकर बॉडी-मास सूचकांक बनाया जाता है. फिर उसे कम वजन, सही वजह और ज़्यादा वजन या मोटापे में बांटा जाता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार