भारतीय मूल के कोस्टा पुर्तगाल के प्रधानमंत्री

  • 27 नवंबर 2015
एंटोनियो कोस्टा, पुर्तगाल के प्रधानमंत्री इमेज कॉपीरइट Reuters

भारतीय मूल के एंटोनियो कोस्टा पुर्तगाल के नए प्रधानमंत्री बने हैं.

राष्ट्रपति एनबिल कैवेको सिल्वा ने सोशलिस्ट पार्टी के इस नेता को प्रधानमंत्री के रूप में नियुक्त किया है.

एंटोनियो के पिता ओरलैंडो कोस्टा कवि थे. उन्होंने उपनिवेश विरोधी आंदोलन में हिस्सा लिया था और पुर्तगाली भाषा में 'शाइन ऑफ़ एंगर' नामक मशहूर किताब लिखी थी.

दादा लुई अफोन्सो मारिया डी कोस्टा भी गोवा के निवासी थे. ख़ुद एंटोनियो कोस्टा का जन्म मोज़ांबीक़ में हुआ, पर उनके रिश्तेदार आज भी गोवा के मरगाओ के नज़दीक रुआ अबेद फ़ारिया गांव में रहते हैं.

साल 1974 में पुर्तगाल में तानाशाही ख़त्म होेने के बाद पहली बार पुर्तगाल में सोशलिस्ट पार्टी सत्ता में आई है. इसे कम्यूनिस्टों का भी समर्थन हासिल है.

कोस्टा ने लोगों को भरोसा दिलाया था कि वे खर्च में कटौती की नीति को पलट देंगे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

कोस्टा ने अपने भारतीय मूल पर एक बार कहा था, "मेरी चमड़ी के रंग ने मुझे कभी भी कुछ भी करने से नहीं रोका. मैं अपनी त्वचा के रंग के साथ सामान्य रूप से रहता हूूं."

कोस्टा ने यह भी कहा था कि उन्हें कभी भी नस्लभेद का सामना नहीं करना पड़ा.

एंटोनियो लिस्बन के मेयर रह चुके हैं. मेयर रहते हुए ही उन्होंने भारत के साथ बेहतर व्यापारिक रिश्तों पर ज़ोर दिया था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोस्टा को पुर्तगाल का प्रधानमंत्री बनने पर बधाई दी है और बेहतर दोतरफा रिश्तों को विकसित करने की इच्छा जताई है.

मोदी ने ट्वीट किया, "मैं एंटोनियो कोस्टा को पुर्तगाल का प्रधानमंत्री बनने पर बधाई देता हूं. मैं दोतरफ़ा संबंध को और मज़बूत बनाने के लिए उनके साथ मिलकर काम करना चाहता हूं"

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार