तुर्की की चेतावनी, 'आग से न खेले' रूस

रूसी जेट इमेज कॉपीरइट epa

तुर्की के राष्ट्रपति रजप तायीप एर्दोगान ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर को चेतावनी दी है कि रूसी लड़ाकू विमान को गिराए जाने के मुद्दे पर वो "आग से ना खेलें."

टेलीविजन पर दिए गए भाषण में उन्होंने कहा कि पेरिस में पर्यावरण पर हो रहे सम्मेलन के दौरान वे इस मसले को हल करने के लिए राष्ट्रपति पुतिन से आमने-सामने बात करना चाहते थे.

लेकिन एक सहायक ने कहा है कि राष्ट्रपति पुतिन ने मिलने से इनकार कर दिया है, क्योंकि तुर्की विमान वाली घटना के लिए माफी मांगने के लिए तैयार नहीं है.

रूस के विदेश मंत्री के मुताबिक, रूस ने तुर्की के साथ वीज़ा मुक्त व्यवस्था को भी रद्द करने का फैसला किया है.

तुर्की का कहना है कि रूसी जेट उसके हवाई क्षेत्र में था जब उसे निशाना बनाया गया, लेकिन रूस इस बात पर अड़ा है कि जेट सीरियाई हवाई क्षेत्र में था.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption तुर्की का मंत्रिमंडल रूसी विमान गिराए जाने के बाद कई आपात बैठकें कर चुका है

राष्ट्रपति एर्दोगान ने कहा, "मैं पेरिस में राष्ट्रपति पुतिन से आमने-सामने मिलना चाहूंगा. मैं इस मसले को एक मुनासिब मोड़ पर लाना चाहता हूं. हम इस बात से परेशान हैं कि ये मसला इतना बढ़ गया."

लेकिन एर्दोगान ये भी कहा कि तुर्की रूस से अपने रिश्तों को बिगाड़ना नहीं चाहता.

बहरहाल रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने चेतावनी दी कि इस घटना से तुर्की के हितों पर गंभीर असर पड़ सकता है.

इमेज कॉपीरइट AFP

लावरोव ने कहा कि रूस एक जनवरी से तुर्की के साथ वीज़ा मुक्त यात्रा की व्यवस्था को रद्द कर रहा है.

तुर्की और रूस के बीच मज़बूत आर्थिक संबंध हैं. रूस तुर्की का दूसरा सबसे बड़ा व्यापारिक साझेदार है जबकि पिछले साल तीस लाख से ज्यादा रूसी पर्यटकों ने तु्र्की की यात्रा की.

रूस के प्रधानमंत्री दिमित्रि मेदवेदेव ने भी चेतावनी दी कि इस घटना से तुर्की के खाद्य आयात और संयुक्त निवेश कार्यक्रमों पर भी बुरा असर पड़ सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार