मर्दों का वज़न डालता है शुक्राणुओं पर असर

इमेज कॉपीरइट thinkstock

एक व्यक्ति का वज़न उसके शुक्राणुओं से पास होनेवाली सूचना पर असर डालता है जिसके नतीजे बच्चे मोटे पैदा हो सकते हैं.

दुबले और मोटे पुरुषों की शुक्राणु कोशिकाएं अलग अलग तरह के निशान रखती हैं, शायद हो सकता है इससे जीनों के व्यवहार में बदलाव होता हो.

इस अध्ययन के लेखक डॉक्टर रोमेन बार्रेज ने कहा, "एक महिला को गर्भावस्था के दौरान अपना ख़्याल रखना चाहिए."

उन्होंने कहा, "यदि हमारे अध्ययन के अनुमान सच होते हैं तो फिर पुरुषों को भी इस संबंध में निर्देश जारी किए जाने चाहिए."

कोपेनहैगेन यूनिवर्सिटी के इस शोध का एक हिस्सा "सेल मेटाबोलिजम" पत्रिका में प्रकाशित हुआ है.

शोध में ऐसे छह मोटे पुरुषों के शु्क्राणुओं का परीक्षण किया गया जो वज़न कम करने के लिए सर्जरी की मदद ले रहे थे.

इमेज कॉपीरइट Romain Barres

फिर उन पुरुषों के शुक्राणुओं को वज़न कम करने के उपचार से पहले, इलाज के हफ्ते बाद और तीसरी बार साल भर बाद जांचा गया.

शोधकर्ताओं में से एक डॉ बार्रेज ने बताया कि उपचार के एक हफ्ते बाद शुक्राणु में बदलाव देखा गया. फिर एक साल बाद भी ये बदलाव देखा गया.

उन्होंने बताया कि हालांकि शुक्राणु कोशिकाओं के आनुवांशिक ढांचे में कोई बदलाव नहीं देखा गया. लेकिन उन्होंने एपिजेनेटिक बदलाव देखे जिससे जीन के शरीर में खुद को प्रकट करने के तरीक़े में बदलाव हो सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार