अमरीकियों को डराया नहीं जा सकता: ओबामा

  • 5 दिसंबर 2015
इमेज कॉपीरइट EPA

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि कैलिफ़ोर्निया गोलीकांड से ‘अमरीकियों को नहीं डराया जा सकता’.

अपने साप्ताहिक रेडियो संदेश में ओबामा ने कहा कि जिस दंपत्ति ने सैन बर्नार्डिनो में गोलीकांड को अंजाम दिया उन्हें इसके लिए कट्टरपंथी बनाया गया था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

ओबामा ने कहा, ‘हम मज़बूत हैं और हममें डटे रहने की ताक़त है.’

उन्होंने कहा, "हमें पता है कि आईएस और दूसरे चरमपंथी संगठन दुनिया भर में और हमारे देश में लोगों को हिंसात्मक वारदात के लिए उकसा रहे हैं. सरकार, क़ानून लागू करने वाली एजेंसियाँ, सामुदायिक और धार्मिक नेताओं को साथ मिलकर लोगों को इन घृणात्मक विचारधाराओं का शिकार होने से बचाने की ज़रूरत है."

इमेज कॉपीरइट AP

28 साल के सैयद रिज़वान फ़ारूक और उनकी पत्नी 27 वर्षीय तशफ़ीन मलिक के हमले में 14 लोग मारे गए थे.

दोनों बाद में पुलिस से हुई मुठभेड़ में मारे गए. सैयद रिज़वान अमरीकी नागरिक थे और सरकार के मुताबिक़ उनकी पत्नी पाकिस्तानी नागरिक थीं और उन्हें पाकिस्तान से वीज़ा दिया गया था.

जांच एजेंसी एफ़बीआई इसे ‘आतंकवादी कार्रवाई’ मानते हुए अपनी जांच आगे बढ़ा रही है.

इमेज कॉपीरइट KTTV via AP

उधर, शनिवार को इस्लामिक स्टेट ने दावा किया कि उसके दो समर्थकों ने कैलिफ़ोर्निया के सोशल सर्विस सेंटर पर हमला किया था जिसमें 14 लोग मारे गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार