फ्रांस में दक्षिणपंथी पार्टी जीत की तरफ़

  • 7 दिसंबर 2015
मारीन लि पेन इमेज कॉपीरइट epa
Image caption नेशनल फ्रंट की नेता मारीन ली पेन

पेरिस में हालिया चरमपंथी हमले के तीन हफ़्ते बाद हुए फ्रांस के क्षेत्रीय चुनाव में दक्षिणपंथी नेशनल फ्रंट पार्टी को बड़ी कामयाबी मिली है.

मारीन ली पेन के नेतृत्व वाली पार्टी नेशनल फ्रंट 13 में से छह क्षेत्रों में आगे चल रही है.

एग्ज़िट पोल्स के मुताबिक, पूर्व राष्ट्रपति निकोला सारकोज़ी के नेतृत्व वाली रिपब्लिकन पार्टी दूसरी बड़ी पार्टी के तौर पर उभरेगी.

इमेज कॉपीरइट epa
Image caption रिपब्लिकन पार्टी के नेता निकोला सारकोज़ी

पिछले चुनावों में कई बार ऐसा हुआ है कि नेशनल फ्रंट को सत्ता से दूर रखने के लिए सत्तारूढ़ सोशलिस्ट पार्टी और सारकोज़ी की रिपब्लिकन पार्टी एकजुट हुईं. लेकिन इस बार सारकोज़ी ने ऐसे किसी गठबंधन से इनकार कर दिया था.

कुछ समय पहले तक नेशनल फ्रंट को एक ऐसी पार्टी के तौर पर देखा जा रहा था जिसे फ्रांस की जनता खारिज कर चुकी है.

लेकिन अब इस दल की नेता दावे से कह सकती हैं कि उनकी पार्टी देश की सबसे लोकप्रिय पार्टी है.

इमेज कॉपीरइट epa
Image caption नेशनल फ्रंट के समर्थक

नेशनल फ्रंट के तेज़ी से मज़बूत होने के पीछे फ्रांस की डांवाडोल आर्थिक स्थिति को तो माना ही जा रहा है, सामाजिक अस्थिरता के साथ-साथ असुरक्षा की भावना ने भी लोगों का रुख़ इस पार्टी की ओर मोड़ा है.

दक्षिणी प्रांत से जीत रही मारियो ली पेन ने कहा कि पार्टी की ये जीत ऐतिहासिक तौर पर महत्वपूर्ण है. इससे ज़ाहिर है कि पुरानी व्यवस्था ख़त्म हो गई और वामपंथी भी इसके साथ ख़त्म हो गए हैं.

इमेज कॉपीरइट epa
Image caption नेशनल फ्रंट की उम्मीदवार मारिऑन ली पेन

फ्रांस के क्षेत्रीय चुनाव के दूसरे दौर की वोटिंग 13 दिसंबर को होनी है. ये क्षेत्र स्थानीय परिवहन, शिक्षा और आर्थिक विकास को बहुत प्रभावित करते हैं और इनके पास काफी अधिकार भी होते हैं.

चुनाव से पहले हुए सर्वेक्षणों से साफ़ था कि 13 नवंबर को पेरिस में हुए चरमपंथी हमले के बाद आप्रवासी विरोधी और यूरोपीय संघ विरोधी नेशनल फ्रंट पार्टी की लोकप्रियता काफ़ी बढ़ गई.

वैसे पिछले कुछ सालों से नेशनल फ्रंट लगातार अपने प्रभाव को मजबूत कर रही थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार