'हेडली कुछ नया कहेंगे इसकी उम्मीद नहीं'

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीका में डेविड कोलमैन हेडली के वकील जॉन थाईस ने बीबीसी से कहा है कि हेडली ने अब तक जो कहा है, उसके अलावा वह कोई नई बात कहेंगे, इसकी उन्हें उम्मीद नहीं है.

हेडली 2008 के मुंबई हमलों के अभियुक्त हैं लेकिन गुरुवार को पेशी के बाद अदालत ने उन्हें बरी करते हुए सरकारी गवाह बना दिया है.

थाइस ने डेविड हेडली के भारतीय अदालत के समक्ष वीडियो लिंक के ज़रिए पेश होने की पुष्टि भी की.

बीबीसी के वॉशिंगटन संवाददाता ब्रजेश उपाध्याय को थाइस ने बताया, "हो सकता है भारतीय अधिकारी उनसे अबू जंदाल के बारे में और जानना चाहें.''

इमेज कॉपीरइट AP

जंदाल को मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड होने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था.

हेडली के वकील के मुताबिक़ जब उन्होंने अमरीका में अपना जुर्म कुबूला था तभी उन्होंने आगे किसी पूछताछ में अमरीकी और विदेशी अधिकारियों से सहयोग करने की रज़ामंदी दे दी थी.

वकील का कहना था, "अगर वे वीडियो लिंक के ज़रिए नहीं पेश होते, तो उस क़रारनामे का उल्लंघन होता, जिसके लिए उन्होंने अमरीकी सरकार के सामने हामी भरी थी."

इमेज कॉपीरइट

गुरुवार की पेशी से अमरीका में उनकी सज़ा पर कोई असर नहीं होने वाला है.

मुंबई में 26 नवंबर 2008 को हुए हमलों में लगभग 170 लोग मारे गए थे. भारत ने एक पाकिस्तानी हमलावर अजमल कसाब को पकड़ा था, जिसे बाद में फांसी दे दी गई.

हेडली अमरीकी सुरक्षा एजेंसियों और अदालत के सामने पहले ही मान चुके हैं कि उन्होंने कई बार मुंबई का दौरा किया था और ये दौरे मुंबई हमलों की योजना से जुड़े थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार