आईएस का तेल कारोबार 50 करोड़ डॉलर का

इस्लामिक स्टेट इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीकी राजस्व अधिकारी एडम शूबीन के अनुसार इस्लामिक स्टेट (आईएस) कहे जाने वाले इस्लामी चरमपंथी समूह ने तेल के कारोबार से तक़रीबन 50 करोड़ अमरीकी डॉलर की कमाई की है.

शूबीन ने बीबीसी को बताया कि सीरियाई राष्ट्रपति बशर-अल-असद की सरकार को उखाड़ने के लिए लड़ाई छिड़ी हुई है, लेकिन असद सरकार ही आईएस के 'बड़े ख़रीददार' हैं.

शूबीन के अनुसार आईएस ने अपने कब्ज़े वाले इलाकों में बैंकों से क़रीब 100 करोड़ डॉलर भी लूटे हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

पिछले एक साल से अमरीका के नेतृत्व में गठबंधन सेना आईएस के ठिकानों पर हमले कर रही है. हाल ही में टाइडल वेब-2 सैन्य ऑपरेशन के तहत आईएस के ठिकानों, तेल के कुंओं, रिफाइनरी और टैंकरों पर हमले बढ़े हैं.

गुरुवार को अमरीकी रक्षा मुख्यालय पेंटागन ने एक अभियान में आईएस के वित्त प्रमुख के मारे जाने की घोषणा की थी.

इमेज कॉपीरइट Reuters

शूबीन के मुताबिक, अनुमान लगाया जा रहा था कि तेल के व्यवसाय से आईएस को हर महीने 4 करोड़ डॉलर की आमदनी होती है. इनमें तुर्की के ख़रीददार भी शामिल हैं. आईएस की आय का बड़ा हिस्सा कब्ज़े वाले इलाकों से जबरन वसूली से भी आता है.

आईएस के आय के ज़रियों को ख़त्म करना गठबंधन सेना के मुख्य उद्देश्यों में से एक है.

इमेज कॉपीरइट AFP

शूबीन कहते हैं कि अन्य चरमपंथी समूहों की तरह आईएस विदेशी दानकर्ताओं के धन पर निर्भर नहीं करता और ख़ुद ही अपनी कमाई करता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है