सीरियाई पिता जिसके नन्हे बच्चे डूब गए

अल साहो अपने बच्चों के साथ

सीरियाई युद्ध से बचकर भागे लोगों को समुद्र में बेहद मुश्किल हालात का सामना करना पड़ रहा है.

सीरिया से बचकर तुर्की पहुँचने की कोशिश कर रहे अल साहो का पूरा परिवार समुद्र में डूब गया, जिनमें उनकी पत्नी और सात बच्चे शामिल थे.

उनके बच्चों की उम्र 20 दिनों से लेकर नौ साल तक की थी.

इमेज कॉपीरइट

वे अपने पूरे परिवार के साथ सीरिया से भागकर यूरोप पहुँचने की कोशिश कर रहे थे.

अल साहो ने बीबीसी को हादसे के बारे में बताया

साहो बताते हैं, ''हम समुद्र के बीच में थे लेकिन अभी हम जलसीमा क्षेत्र से बाहर नहीं निकले थे. लहरें ऊंची हो गईं और नाव टूट गई. पानी हमारी नाव में भरने लगा और हमारी नाव डूब गई.''

आंखों में आंसू भरे अल साहो कहते हैं, ''मेरी पत्नी और सभी बच्चे नाव के चैंबर में थे. मैंने बाद में अपने चार बच्चों को शवगृह में देखा, लेकिन मेरी पत्नी और बाक़ी बच्चे वहां नहीं थे. मैंने उन्हें हमेशा के लिए खो दिया. मेरे बच्चे ही मेरा सबकुछ थे. मैंने अपना सबकुछ खो दिया. मैं इस दुनिया से अब कुछ नहीं चाहता.''

अपनी पत्नी के बारे में साहो ने बताया, ''मेरी पत्नी दुनिया की सबसे प्यारी पत्नी थी. वो बहुत ही वफ़ादार और समर्पित थी. मैं उन्हें सबकुछ देने वाला था. मैं उन्हें इसलिए यहां लाया क्योंकि मैं उनके लिए डरा हुआ था.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार