एमएसएफ क्लीनिक में '42 लोग मारे गए थे'

इमेज कॉपीरइट EPA

राहत संस्था मेडिसां सां फ्रंतिए (एमएसएफ़) का कहना है कि अफ़ग़ान शहर कुंदुंज में उसके एक क्लीनिक पर हुए अमरीकी हमले में 42 लोग मारे गए थे.

तीन अक्तूबर को हुए इस हमले में एमएसएफ ने शुरू में 30 लोगों के मारे जाने की बात कही थी.

एमएसएफ ने कहा कि उसने मृतकों की नई संख्या एक विस्तृत जांच के बाद जारी की है.

वहीं अमरीकी सेना ने अपनी जांच के बाद कहा कि यह हमला 'मानवीय ग़लती' का नतीजा था लेकिन एमएसएफ ने इसे युद्ध अपराध कहा है.

एमएसएफ़ इस हमले की स्वतंत्र अंतरराष्ट्रीय जांच की मांग कर रही है.

इमेज कॉपीरइट AP

शनिवार को एमएसएफ की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि मारे गए लोगों में 14 कर्मचारी, 24 मरीज़ और मरीज़ों के चार रिश्तेदार शामिल हैं.

अमरीका ने इस हमले के बाद 25 नवंबर को एक रिपोर्ट जारी की थी, जिसके अनुसार एसी-130 लड़ाकू विमान ने एमएसएफ के क्लीनिक को ग़लती से वो सरकारी इमारत समझ लिया था जिसे तालिबान लड़ाकों ने अपने कब्ज़े में लिया हुआ है.

इस विमान ने अग़ले 25 मिनट तक इस क्लीनिक पर 211 गोले दाग़े थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार