'मां बदला लेने जाना है, दुश्मन के बच्चों को पढ़ाना है...'

पेशावर स्कूल हमला इमेज कॉपीरइट Reuters

पाकिस्तान के पेशावर शहर में सैन्य स्कूल पर हुए हमले की पहली बरसी पर पाकिस्तानी सेना ने एक वीडियो गीत जारी किया है.

एक बच्चे की आवाज़ में इस गीत के शब्द हैं " मुझे मां उससे बदला लेने जाना है, मुझे दुश्मन के बच्चों को पढ़ाना है..."

गीत में कहा गया है कि हमले का बदले लेने का सबसे अच्छा तरीक़ा बच्चों को पढ़ाना है, जिसमें 'दुश्मन के बच्चे' भी शामिल हैं.

पेशावर के आर्मी पब्लिक स्कूल पर 16 दिसंबर 2014 को हुए हमले में 150 लोग मारे गए थे जिनमें अधिकतर स्कूल बच्चे थे.

तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली थी.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption इस हमले में स्कूली बच्चों और महिला शिक्षकों समेत 150 मारे गए थे.

बच्चे की आवाज़ में जारी इस वीडियो में पेशावर के सैन्य स्कूल के बच्चों के साथ-साथ अभिभावक भी दिखाए गए हैं.

बंदूकधारी सायों के साथ-साथ फांसी के फंदे की तस्वीर भी दिखाई गई है.

दो सप्ताह पहले ही पाकिस्तान में पेशावर हमलों के संबंध में चार लोगों को फांसी दी गई थी.

सैन्य स्कूल पर हुए हमले के बाद गठित एक सैन्य अदालत ने इन चारों को फांसी की सज़ा सुनाई थी.

इस हमले के बाद पाकिस्तान की सेना और सरकार ने तालिबान से निबटने की अपनी नीति में अहम बदलाव किए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार