स्पेस एक्स रॉकेट की ऐतिहासिक सीधी लैंडिंग

रॉकेट लैंडिंग इमेज कॉपीरइट reuters
Image caption 23मंज़िला इमारत जितना ऊंचे रॉकेट को फ्लोरिडा स्थित एयरफोर्स स्टेशन से छोड़ा गया था

अमरीकी कंपनी स्पेस एक्स ने एक मानवरहित रॉकेट को पृथ्वी पर सुरक्षित उतारने में कामयाबी हासिल की है.

इससे पहले इसने 11 सैटेलाइटों को अपनी कक्षाओं में भेजा था.

सोमवार को फ्लोरिडा में फाल्कन-9 नाम का ये रॉकेट अपने लॉंच पैड से क़रीब दस किलोमीटर दूर उतरा.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption पहली बार पूरी तरह स्वचलित रॉकेट सीधी अवस्था में पृथ्वी पर उतरा है

ज़मीन पर सीधा उतरने वाला ये पहला अंतरिक्षयान नहीं है. इससे पहले पिछले महीने एक काफ़ी छोटा रॉकेट न्यू शेफर्ड टेक्सास में सफलतापू्वक सीधी अवस्था में उतरा था.

फिर भी आकार में न्यूशेफर्ड से दोगुने फाल्कन-9 का यूं सीधे ज़मीन छूना रॉकेटों के दोबारा इस्तेमाल में काफ़ी अहम माना जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption स्पेस एक्स का नासा से 1.6 अरब डॉलर का अनुबंध है

स्पेस एक्स का लक्ष्य है इस तरह के दोबारा इस्तेमाल किए जाने वाले तत्वों के इ्तमाल से अपने स्पेस ऑपरेशन की लागत को कम करना. इसी साल जून में उनके एक रॉकेट में विस्फोट हो गया था.

स्पेस एक्स का नासा के साथ इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन तक विभिन्न आपूर्ति भेजने के लिए 1.6 बिलियन डॉलर का अनुबंध है

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption पृथ्वी पर आने से पहले ये रॉकेट अंतरिक्ष में 200 किलोमीटर दूर तक गया

कंपनी के उद्यमी एलन मस्क का कहना है कि रॉकेट्स को यूं वापस पृथ्वी पर लाकर उन्हें फिर अंतरिक्ष में भेजने की सामर्थ्य से उनकी कंपनी की लागत में बहुत कमी आएगी.

कंपनी का लक्ष्य है रॉकेट उद्योग में क्रांतिकारी बदलाव लाना, जो अब तक हर लॉंच के बाद मशीनरी और रॉकेट के हिस्सों को दोबारा इस्तेमाल नहीं कर पाता.

इससे पहले फाल्कन-9 को समुद्र में उतारने की बहुत सी कोशिशें नाकाम हुई थीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार