'परमाणु समझौते मामले में ईरान सही रास्ते पर'

  • 29 दिसंबर 2015
इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीका ने कहा है कि परमाणु समझौते को पूरा करने की दिशा में बड़ी मात्रा में यूरेनियम को देश से बाहर भेजकर ईरान ने महत्वपूर्ण क़दम उठाया है.

अमरीकी विदेश मंत्री जॉन कैरी ने कहा कि ईरान ने ग्यारह टन कम संवर्धित यूरेनियम को रूस भेज दिया है.

इस साल जुलाई में छह अंतरराष्ट्रीय शक्तियों के साथ ईरान ने एक समझौता किया था.

समझौते के अनुसार ईरान इस बात पर सहमत हो गया था कि वो अपने पास तीन सौ किलोग्राम से ज़्यादा कम संवर्द्धित यूरेनियम नहीं रखेगा, यूरेनियम को संवर्धित करने में इस्तेमाल होने वाले सेंट्रीफ़्यूज की मात्रा को कम करेगा और वो प्लूटोनियम के उत्पादन को भी घटा देगा.

कैरी ने कहा, ''मुझे इस बात को बताते हुए ख़ुशी हो रही है कि हमें इस बात के साफ़ संकेत मिले हैं कि परमाणु समझौते के तहत अपनी वचनबद्धता को पूरा करने के क्रम में ईरान ने महत्वपूर्ण क़दम उठाए हैं.''

जुलाई में हुए समझौते के तहत अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी इस बात का फ़ैसला करेगी कि ईरान ने अपने वादे पूरे कर लिए हैं या नहीं.

इसके बाद अमरीका और दूसरी विश्व शक्तियां ईरान के ख़िलाफ़ लगी अपनी आर्थिक पाबंदियां ख़त्म करने की शुरुआत करेंगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)