लंदन: हमले की साज़िश रची, पति पत्नी को उम्रकैद

मुहम्मद रहमान और सना अहमद ख़ान इमेज कॉपीरइट PA

लंदन में एक चरमपंथी हमले की साजिश रचने के आरोप में एशियाई मूल के एक दंपति को कम से कम 27 और 25 साल जेल की सज़ा दी गई है.

25 साल के मोहम्मद रहमान ने 'साइलेंट बॉम्बर' के नाम से सोशल मीडिया पर लंदन भूमिगत रेल और वेस्टफ़ील्ड शॉपिंग सेंटर को निशाना बनाने के बारे में चर्चा की थी.

रहमान और उनकी पत्नी सना अहमद ख़ान को चरमपंथी गतिविधियों की तैयारी करने का दोषी पाया गया था.

आजीवन कारावास का आदेश सुनाते हुए न्यायाधीश बेकर ने कहा रहमान इस्लामिक स्टेट की जिहाद की अपील को पूरा करने के लिए दृढ़ संकल्प थे.

इमेज कॉपीरइट Thames Valley Police
Image caption वीडियो का ये स्क्रीनशॉट टेम्स पुलिस ने जारी किया है

दंपति के मामले की सुनवाई के दौरान रहमान के घर से बम बनाने की सामग्री मिली. इसी के साथ उसका एक वीडियो भी मिला जिसमें वो घर के बगीचे में छोटा विस्फ़ोट करते देखा गया.

सुनवाई में बताया गया कि वह 7 जुलाई 2005 को हुए लंदन धमाकों की 10वीं बरसी पर हमला करने की योजना बना रहे थे.

अदालत में 24 साल की सना ख़ान की भूमिका बम बनाने के लिए पैसा मुहैया कराने की बताई गई.

इमेज कॉपीरइट PA

रहमान ट्विटर का 'बहुत' इस्तेमाल करते थे.

उनके एकाउंट से किए गए एक ट्विट में लिखा था, "मैंने ऐसा किया है कि अगर पोपो [पुलिस] धावा बोलती है तो अपने बिस्तर के बगल में लगे एक बटन को दबा कर पूरे घर को उड़ा सकूं. कोई भी मेरे जिहाद के रास्ते में नहीं आ सकता."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार