छात्रों को चार नाम और याद करने होंगे

आवर्त सारणी

रसायन शास्त्र से जुड़े शोध का काम देखने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था ने आवर्त सारणी यानी पेरियोडिक टेबल में चार नए तत्वों को जगह देने की मंजूरी दी है.

इससे पहले 2011 में नए तत्वों के रूप में 114 और 116 को मंजूरी दी गई थी.

नए तत्वों को टेबल में 115, 117 और 118 नंबर की जगह मिलेगी. इसके साथ ही 113 नंबर के तत्व की खोज के लिए क्रेडिट किसे देना है इसके बारे में भी फैसला कर लिया गया है.

यानी अब ये तत्व भी पेरियोडिक टेबल में आ जाएगा.

इस तत्व के लिए पहली बार एक एशियाई टीम को क्रेडिट मिलने जा रहा है.

कई और टीमों ने इस तत्व की खोज करने का दावा किया था.

पेरियोडिक टेबल में उन सभी रासायनिक तत्वों को उनके गुणों के आधार पर जगह दी जाती है जिन्हें वैज्ञानिक अब तक खोज पाए हैं.

ये चारों तत्व प्रकृति में तो नहीं पाए जाते लेकिन हल्के तत्वों के मेल से बनते हैं.

हल्के तत्वों के मेल से बने ये अत्यंत भारी रासायनिक परमाणु बेहद अस्थिर हैं और सेकेंड के महज कुछ ही हिस्से के लिए अस्तित्व में आए.

इंटरनेशनल यूनीयन ऑफ प्योर एंड अप्लायड केमिस्ट्री पेरियोडिक टेबल की सातवीं कतार को पूरा करेगी. इसके बाद इन्हें नाम और नंबर दिया जाएगा.

नोबेल विजेता रसायनशास्त्री रयोजी नोयोरी ने कहा है कि वैज्ञानिकों के लिए यह कदम ओलंपिक खेलों के स्वर्ण पदक से ज़्यादा अहम है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)