नहीं किया ईरानी दूतावास पर हमला: सऊदी अरब

इमेज कॉपीरइट Reuters

यमन में हूती विद्रोहियों के खिलाफ लड़ रहे सऊदी अरब के नेतृत्व वाले गठबंधन ने ईरान के दूतावास पर हमले के आरोप को नकारा है.

ईरान ने गठबंधन पर यमन की राजधानी सना में अपने दूतावास पर लड़ाकू विमानों से हमले का आरोप लगाया था.

ईरान ने कहा कि गुरूवार को हुए मिसाइल हमले में एक गार्ड गंभीर रूप से घायल हुआ है और इस हमले की शिक़ायत वो संयुक्त राष्ट्र में दर्ज कराएगा.

उधर दूसरी तरफ सऊदी नेतृत्व गठबंधन ने कहा कि दूतावास के निकट कोई अॉपरेशन नहीं चलाया गया.

इमेज कॉपीरइट EPA

हाल ही में सऊदी अरब और उसके कई सहयोगी देशों ने ईरान के साथ अपने सारे संबंध तोड़ लिए हैं.

सऊदी अरब में शिया धर्म गुरू अल निम्र अल को फांसी देने के बाद ईरान में गुस्सा भड़क गया था और प्रदर्शनकारियों ने तेहरान स्थित सऊदी दूतावास को जला दिया था.

उसके बाद सऊदी अरब ने ये क़दम उठाया था.

सुन्नी शासित सऊदी अरब ने ईरान पर शिया हूती विद्रोहियों को सहयोग देने का आरोप लगाया है, हालांकि तेहरान इससे इंकार करता रहा है.

सऊदी गठबंधन ने गुरुवार को कहा कि ईरान के आरोप पूरी तरह से झूठे है और दूतावास के नजदीक कोई अॉपरेशऩ नहीं चलाया गया.

उसने कहा कि जांच में भी ये बात साफ हो चुकी है कि दूतावास भवन पूरी तरह सुरक्षित है और वहां किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ हैं.

इससे पहले सना के निवासियों और गवाहों ने भी दूतावास के मुख्य भवन में कोई भी नुकसान होने से इंकार किया है.

इमेज कॉपीरइट EPA

ईरान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुसैन जाबेर अंसारी ने भी सऊदी अरब पर राजनयिक मिशनों की रक्षा करने वाले सभी तरह के अंतरराष्ट्रीय समझौते का जानबूझ कर उल्लंघन करने का आरोप लगाया था.

बाद में ईरान के उप विदेश मंत्री ने कहा कि सना में सऊदी अरब के हवाई हमलों के दौरान एक मिसाइल दूतावास के नजदीक गिरी जिससे हमारा एक गार्ड गंभीर रूप से घायल हो गया. उन्होंने कहा कि हम हमले के बारे में पूरी जानकारी वह सुरक्षा परिषद को देंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार