इराक़ में दो साल में 18,000 की मौत: यूएन

इराक़ पर संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट के मुताबिक, इराक़ में नागरिकों के ख़िलाफ़ हिंसा के आंकड़े चौंका देने वाले हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक पिछले दो सालों में 18 हजार से ज़्यादा लोग मारे गए हैं.

रिपोर्ट में चरमपंथी इस्लामिक स्टेट संगठन पर सुव्यवस्थित हिंसा का आरोप लगाया गया है जिनमें से कुछ तो नरसंहार के बराबर हैं.

रिपोर्ट के अनुसार ये संख्या भी वास्तविक संख्या से कहीं कम है क्योंकि इस्लामिक स्टेट के नियंत्रण वाले तमाम इलाकों तक पहुंचा नहीं जा सका है.

इमेज कॉपीरइट AFP

रिपोर्ट के मुताबिक इराक़ में जारी संघर्ष के चलते 30 लाख से ज़्यादा लोग विस्थापित हुए हैं और हज़ारों लोगों का इस्लामिक स्टेट ने अपहरण किया है.

यूएन की इस रिपोर्ट में इराकी सुरक्षा बलों और कुर्द लड़ाकों की हिंसा का भी ज़िक्र किया गया है.

संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार आयुक्त ज़ाइद राद अल हुसैन का कहना है कि इस रिपोर्ट से पता चलता है कि इराकी शरणार्थी किन भयावह चीज़ों से भाग कर यूरोप आने की कोशिश करते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार