ब्राजील में पैदा हो रहे हैं छोटे सिर वाले बच्चे

इमेज कॉपीरइट AP

ब्राज़ील ने कहा है कि अक्तूबर से अब तक चार हजार असामान्य छोटे सिर वाले यानी माइक्रोसिफ़ेली बीमारी ग्रस्त बच्चे पैदा हुए हैं.

देश में क़रीब एक प्रतिशत नवजात शिशुओं के सिर विकसित न होने की आशंका जताई जा रही है.

ब्राज़ील के अधिकारियों के मुताबिक़ ऐसे मामले ज़ाइका वायरस के कारण बढ़े हैं. 2014 में ऐसे केवल 150 बच्चे पैदा हुए थे.

इस वायरस के कारण सिर का सामान्य तरीके से विकास नहीं हो पाता और दिमाग़ी विकलांगता हो जाती है.

इमेज कॉपीरइट AP

ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्री के मुताबिक़ अक्तूबर से अब तक अविकसित दिमाग़ वाले बच्चों के जन्म लेने के 3,893 मामले सामने आए हैं.

दिमाग़ी विकलांगता के लिए ज़ाइका वायरस से कोई संबंध है या नहीं इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है पर जो बच्चे मरे हैं उनमें से कुछ के सिर में यह वायरस मिला.

माना जा रहा है कि यह वायरस ही माइक्रोसिफ़ेली के लिए ज़िम्मेवार है.

इमेज कॉपीरइट AFP

ज़ाइका वायरस के लक्षण पांच में से एक व्यक्ति में होते हैं. यह बीमारी वही मच्छर फैलाता है, जिसकी वजह से डेंगू और चिकनगुनिया होता है.

राष्ट्रपति दिल्मा रुसेफ़ ने कहा है कि देश का उत्तर पूर्वी हिस्सा इससे सबसे ज़्यादा प्रभावित है और देशवासियों को इसका मिलकर मुक़ाबला करना है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

उन्होंने कहा कि जब तक हम वैक्सीन तैयार करने की कोशिश करते हैं, तब तक हमें ऐसे मच्छर पैदा होने से रोकने का प्रयास करना चाहिए.

रियो द जनेरो में इसी साल अगस्त में ओलिंपिक खेल होने हैं.

ब्राज़ील के अलावा कुछ लैटिन अमरीकी देशों में भी इस वायरस का प्रकोप देखा जा रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार