उत्तर कोरिया ने अमरीकी छात्र को गिरफ़्तार किया

ऑटो वांबियर इमेज कॉपीरइट facebook profile

उत्तर कोरिया ने कहा है कि उसने एक अमरीकी छात्र को देश के ख़िलाफ़ शत्रुतापूर्ण काम करने के आरोप में गिरफ़्तार किया है.

सरकारी समाचार एजेंसी केसीएनए के मुताबिक़ इस छात्र का नाम ऑटो फ़्रेडरिक वांबियर है और वह यूनिवर्सिटी ऑफ़ वर्जीनिया का छात्र है.

केसीएनए के अनुसार वह पर्यटक वीज़ा पर उत्तर कोरिया में "देश की एकता को नष्ट" करने के मक़सद से दाखिल हुआ था. एजेंसी ने यह भी कहा कि वांबियर को अमरीकी सरकार ने "बर्दाश्त किया और चालाकी से उसका इस्तेमाल किया."

केसीएनए ने इससे ज़्यादा और कोई जानकारी नहीं दी लेकिन कहा है कि छात्र से पूछताछ चल रही है.

दक्षिण कोरिया की राजधानी सोल में अमरीकी दूतावास के एक अधिकारी ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि उन्हें गिरफ़्तारी के बारे में जानकारी है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption हाल में उत्तरी कोरिया और अमरीका के बीच तनाव बढ़ा है

कभी-कभी उत्तर कोरिया अपने विरोधियों पर दबाब डालने के लिए विदेशी नागरिकों को हिरासत में ले लेता है.

चीन की ट्रैवल एजेंसी यंग पायनियर टुअर्स ने प्योग्यांग में उनकी यात्रा के दौरान वांबियर की गिरफ़्तारी की पुष्टि करते हुए एक बयान जारी किया है.

इसमें यह भी कहा गया है कि वांबियर के परिवार को इस बारे में सूचित कर दिया गया है.

बयान में कहा गया है कि ट्रैवल एजेंसी अमरीकी विदेश मंत्रालय और स्वीडिश दूतावास के संपर्क में है, जो विदेश मंत्रालय के साथ मिलकर काम कर रहा है.

इमेज कॉपीरइट kns afp getty
Image caption कनाडा के पादरी ह्यो सू लिम भी उत्तर कोरिया में कैद हैं

उत्तरी कोरिया में स्वीडन, अमरीकी हितों का प्रतिनिधित्व करता है क्योंकि अमरीका और उत्तरी कोरिया के बीच राजनयिक संबंध नहीं हैं.

वांबियर ऐसे तीसरे पश्चिमी नागरिक हैं, जिन्हें उत्तर कोरिया में गिरफ़्तार किया गया है.

हाल में उत्तर कोरिया के हाइड्रोजन बम का परीक्षण करने के दावे के बाद अमरीका और उत्तर कोरिया में तनाव बढ़ गया है.

दक्षिण कोरिया ने भी सीमा पर अपना प्रचार अभियान तेज़ कर दिया है. उधर अमरीका ने उत्तर कोरिया के ख़िलाफ़ संयुक्त राष्ट्र से नए आर्थिक प्रतिबंधों की अपील की है.

अमरीकी विदेश मंत्रालय ने अमरीकी नागरिकों को सलाह दी है कि वो उत्तर कोरिया न जाएं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार