'पाक दिखाए चरमपंथी नेटवर्क ध्वस्त करने के लिए गंभीरता'

इमेज कॉपीरइट Getty

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि पाकिस्तान आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई के मामले में सही दिशा में आगे बढ़ रहा है हालांकि इसे दिखाना होगा कि वह चरमपंथी गुटों को कुचलने के बारे में गंभीर है.

पठानकोट में वायुसेना अड्डे पर चरमपंथी हमले को चरमपंथ की एक और मिसाल करार देते हुए ओबामा ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शरीफ से संपर्क साधने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ़ की.

इमेज कॉपीरइट PIB

रविवार को वाशिंगटन में भारतीय समाचार एजेंसी प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया को दिए गए साक्षात्कार में अमरीकी राष्ट्रपति ने कहा, दोनों नेता इस दिशा में बातचीत को बढ़ा रहे हैं कि क्षेत्र में हिंसा और आतंकवाद का मुकाबला कैसे करना है.

इमेज कॉपीरइट AP

ओबामा ने कहा कि वह समझते हैं कि पाकिस्तान ऐसे चरमपंथी गुटों के ख़िलाफ़ अधिक प्रभावी कार्रवाई कर सकता है जो उसकी धरती से कार्रवाई करते हैं.

बराक ओबामा ने कहा कि पाकिस्तानी नेतृत्व यह समझ चुका है कि क्षेत्र में अस्थिरता से खुद पाकिस्तान की सुरक्षा को भी ख़तरा है और उसकी आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई की नीति सही है.

बराक ओबामा ने कहा, "पेशावर के आर्मी स्कूल पर हमले के बाद से हमने देखा है कि पाकिस्तान ने कई कई गुटों के खिलाफ कार्रवाई की है और साथ ही हमने पाकिस्तान में लगातार चरमपंथी हमलों को भी देखा हैं जैसे कि हाल ही में उत्तर पश्चिमी पाकिस्तान विश्वविद्यालय पर हमला हुआ. '

बराक ओबामा ने कहा कि पाकिस्तान के पास ये दिखाने का मौका है कि वह आतंकवादियों के नेटवर्क ध्वस्त करने के लिए गंभीर है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption चारसद्दा विश्वविद्यालय, पाकिस्तान

उनका यह भी कहना था इस क्षेत्र (दक्षिण एशिया) और दुनिया भर में आतंकवादियों के सुरक्षित आश्रयों को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए और आतंकवादियों को कटघरे में लाना चाहिए.

अमरीकी राष्ट्रपति ने ये बातें उस समय कही हैं जब भारत की ओर से पठानकोट के हवाई अड्डे पर हमले के आरोप पाकिस्तान के प्रतिबंधित चरमपंथी संगठन जैश पर लगाए गए हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने रविवार को लंदन में पत्रकारों से बात करते हुए कहा था कि पठानकोट पर हमले की जांच और भारत की ओर से उपलब्ध कराए गए सबूतों की पुष्टि की प्रक्रिया जारी है जो पूरा होने पर ही तथ्य सामने लाए जाएंगे.

उनका कहना था कि पाकिस्तान की विशेष जांच दल इस संबंध में भारत जाकर और अधिक सबूत जुटाएगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार