'यौन उत्पीड़न' पर योग गुरु देंगे करोड़ों का मुआवज़ा

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीका में योग गुरु बिक्रम चौधरी को अपनी पूर्व वकील मीनाक्षी जाफा बोडेन को नौ लाख डॉलर (लगभग छह करोड़ रुपए) से अधिक का मुआवज़ा देना होगा.

अमरीकी कोर्ट ने मीनाक्षी की तरफ से लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोप पर सुनवाई करते हए ये फैसला सुनाया है.

मीनाक्षी की वकील कार्ला मिनार्ड ने बताया, "बिक्रम ने अपनी वकील मीनाक्षी का शारीरिक शोषण किया. उन्होंने उसे ग़लत तरीके से छुआ और उनके होटल सुईट में रुकने की कोशिश भी की."

मीनाक्षी का कहना है कि वे बिक्रम पर पुराने यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच कर रही थीं, जिसके कारण जून 2013 में उन्हें नौकरी से निकाल दिया गया था.

इस मामले में कोर्ट ने मीनाक्षी के पक्ष में फैसला सुनाया. आदेश के अनुसार बिक्रम को 9.24 लाख डॉलर का मुआवज़ा देना होगा.

वर्ष 2013 तक मीनाक्षी समेत छह महिलाओं ने योग गुरु पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था जिसकी सुनवाई इस साल अप्रैल में होनी है.

इमेज कॉपीरइट AP

न्यूज़ एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार सुनवाई के दौरान बिक्रम ने मीनाक्षी के सभी आरोपों को नकार दिया.

उन्होंने कहा कि मीनाक्षी को नौकरी से इसलिए निकाला गया क्योंकि उनके पास अमरीका में वकालत की प्रैक्टिस करने का उचित लाइसेंस नहीं था.

वहीं पिछले साल फरवरी में कनाडा की एक महिला ने भी बिक्रम पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था.

भारतीय मूल के अमरीकी बिक्रम चौधरी 'बिक्रम योग' के संस्थापक हैं. वे पूरी दुनिया में हॉट योग गुरु के नाम से मशहूर हैं.

दुनियाभर में उनके 650 से अधिक योग स्कूल हैं. बिक्रम चौधरी अपने शिष्यों को 40 डिग्री सेल्सियस तापमान में योग सिखाते हैं जिसे वो 'हॉट योग' का नाम देते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)