मिस्र में सोशल मीडिया पर छाया कंडोम बैलून

  • 29 जनवरी 2016
इमेज कॉपीरइट EPA

मिस्र के अभिनेता अहमद मलिक और व्यंगकार टीवी शो रिपोर्टर शादी अबु जायद ने देश के मीडिया में आलचोनाओं का बवंडर मचा दिया है.

इन दोनों ने बीते 25 जनवरी को 2011 के विद्रोह के पांचवे वार्षिकोत्सव और पुलिस डे के रूप में भी मनाए जाने वाले दिन कंडोम के गुब्बारे पुलिसवालों को सौंपे और इसका वीडियो सोशल मीडिया पर डाल दिया.

अबु जायद के 25 जनवरी को फेसबुक पर पोस्ट किए गए वीडियो में कंडोम को फुलाते हुए दिखाया गया है. फुले हुए कंडोम पर एक व्यंगात्मक संदेश लिखा गया है- मिस्र के युवाओं की ओर से 25 जनवरी पर पुलिस को. इस वीडियो को अब तक लगभग 20 लाख लोग देख चुके हैं.

सोशल मीडिया की दीवानगी अरबी ट्विटर हैशटैग अहमद मलिक, बॉयकॉट अबला फाहिता (अबु जायेद के टीवी शो का नाम )और दि बैटल ऑफ दि कंडोम पर देखी जा रही है.

इमेज कॉपीरइट Getty

सोशल मीडिया एक्टिविस्ट इन दो युवाओं पर इसे जोरशोर से पुलिस के खिलाफ कथित अपराध का आरोप लगा रहे हैं. उनका कहना है पांच साल पहले शुरू हुई इस बगावत की तरफ अधिकारी आंखे मूंदे बैठे हैं.

एक्टिविस्ट कैदी अला अब्द- एल फतह की बहन मोना सईफ ने फेसबुक पर कहा कि मलिक और अबु जायद का वीडियो युवा पीढ़ी की असली लड़ाई पर प्रकाश डाल रहा है, जिसमें अक्सर पुलिस के रोजाना आम लोंगों और युवाओं के खिलाफ किए गए अपराधों को वो नजरअंदाज कर देती हैं, लेकिन इसके खिलाफ क्रोध अश्लील चुटकुले के रूप में निकलता है.

इमेज कॉपीरइट twitter

मिस्र के मशहूर सितारवादक बाशीम यूसुफ ने कहा कि एक शक्तिशाली देश चुटकुलों से संकट में नहीं पड़ सकता चाहे वो कितना ही बकवास क्यों न हो. तुम उन लोगों में से एक हो जो देश के सम्मान को कमजोर कर रहे हो.

अपने पक्ष में अबु जायेद ने कहा कि वह महसूस करते हैं कि उनके जेल से बाहर रहने के कुछ ही दिन है. हालांकि उन्हें अपने विश्वास पर कायम रहने का कोई पछतावा नहीं है.

अधिकारियों को संबोधित करते हुए अपने लंबे फेस बुक पोस्ट में अबु जायेद ने कहा कि तुम शक्ति और हथियार रखते हो, लेकिन हम इन हथियारों से इतर हम चुटकुले बना सकते हैं. तुम हमें हमारे घर से अगवा कर सकते हो और खुलेआम दिन में मार सकते हो, लेकिन तुम हमारे अस्तित्व को नकार नहीं सकते और ये भी कभी अस्वीकार नहीं कर सकते कि तुम एक बकवास चुटकुले हो.

इस पोस्ट पर उन्हें 110,000 लाइक्स मिले और 32,000 लोगों ने शेयर किया.

(बीबीसी मॉनिटरिंग दुनिया भर के टीवी, रेडियो, वेब और प्रिंट माध्यमों में प्रकाशित होने वाली ख़बरों पर रिपोर्टिंग और विश्लेषण करता है. आप बीबीसी मॉनिटरिंग की ख़बरें ट्विटर और फेसबुक पर भी पढ़ सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार