'रॉकेट लॉन्च की तैयारी' में उत्तर कोरिया

इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीकी अधिकारियों का मानना है कि उत्तर कोरिया अब रॉकेट छोड़ने की तैयारी में हैं. उन्होंने सोहाए सैटेलाइट स्टेशन पर बढ़ी गतिविधियों के आधार पर यह कहा है.

एक अधिकारी ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया कि यह उपग्रह या रॉकेट हो सकता है. पर इस बात का कोई संकेत नहीं है कि यह बैलिस्टिक मिसाइल है.

यह घटना तब हुई, जब 6 जनवरी के परमाणु परीक्षण की वजह से उत्तर कोरिया पर नए सिरे से प्रतिबंध लगाने पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में विचार हो रहा है.

उत्तर कोरिया की सरकार ने हाइड्रोजन बम के सफल परीक्षण का दावा किया था, लेकिन परमाणु विशेषज्ञों ने इस पर सवाल उठाए. उनका कहना कि यह धमाका उतना बड़ा नहीं था.

समाचार एजेंसी क्योदो के मुताबिक़, जापानी अधिकारी सोहाए सैटेलाइट स्टेशन पर हो रही गतिविधियों से चिंतित हैं. यह स्टेशन तोंगचांग-री स्टेशन के नाम से भी जाना जाता है.

इमेज कॉपीरइट AP

अधिकारियों ने सैटेलाइट के चित्रों का विश्लेषण करके कहा कि शायद हफ़्ते भर में मिसाइल और रॉकेट छोड़ने की तैयारी चल रही है.

इस दौरान दक्षिण कोरिया की योनहाप समाचार एजेंसी ने सरकारी सूत्रों के हवाले से कहा है कि शायद निगरानी से बचने के लिए उस उपग्रह केंद्र के महत्वपूर्ण स्थानों को ढँक दिया गया है.

बाद में वॉशिंगटन के एक अनाम अमरीकी अधिकारी ने एएफ़पी को बताया कि इस बात के संकेत हैं कि वे किसी लॉन्च की तैयारी में लगे हैं.

बीेते साल उस जगह एक लंबा लॉन्च टॉवर स्थापित किया गया था. विशेषज्ञों का कहना है कि हो सकता है ये लंबी दूरी के रॉकेट लॉन्च के लिए तैयारी हो.

इमेज कॉपीरइट AP

उत्तर कोरिया ने साल दिसंबर 2012 में लंबी दूरी के एक रॉकेट से संचार उपग्रह को कक्षा में स्थापित किया था. सरकार का दावा था तीन स्तरों वाले रॉकेट उन्हा-3 के ज़रिए संचार उपग्रह कक्षा में स्थापित कया गया था.

अमरीका और उसके सहयोगियों ने इसे बैलेस्टिक मिसाइल तकनीकी का छिपा हुआ परीक्षण माना था.

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने बाद में इसे परीक्षणों पर लगे प्रतिबंधों का उल्लंघन पाया था और उत्तर कोरिया पर नए प्रतिबंध थोप दिए.

उत्तर कोरिया का कहना है कि उसका अंतरिक्ष कार्यक्रम पूरी तरह शांतिपूर्ण है.

लेकिन माना जा रहा है कि वह इंटर कॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) विकसित कर रहा है. यह अमरीका तक मार कर सकता है.

इसके साथ ही उत्तर कोरिया मिसाइल पर फ़िट करने लायक काफ़ी छोटा परमाणु हथियार पर भी काम कर रहा है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार