मौत की ग़लत सज़ा पर 27 अफसरों पर कार्रवाई

चीन इमेज कॉपीरइट AFP

चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक़ 27 चीनी अधिकारियों को एक किशोर को क़रीब 20 साल पहले ग़लत तरीके से फंसाकर मौत की सज़ा देने के मामले में दंडित किया गया है.

हूगज़िल्ट तब 18 साल के थे, जब उन्हें एक फैक्टरी के सार्वजनिक शौचालय में एक महिला की हत्या और बलात्कार का दोषी पाया गया था.

लेकिन 2005 में पकड़े गए एक सीरियल रेपिस्ट ने इस मामले में अपना जुर्म क़बूल किया और पिछले साल उसे मौत की सजा दे दी गई.

हूगज़िल्ट को उनकी मौत के बाद औपचारिक रूप से दिसंबर 2014 में आरोपों से बरी कर दिया गया.

चीन में किसी मामले में बरी होने की संभावना बेहद कम मानी जाती है और जुर्म साबित होने के बाद उसमें बदलाव आना और भी दुर्लभ है.

रविवार को शिन्हुआ ने एक आधिकारिक बयान का हवाला देते हुए कहा, "26 अधिकारियों को प्रशासनिक दंड दिए गए हैं."

रिपोर्ट के मुताबिक़ दंड पाने वाले एक अधिकारी फेंग ज़िमिंग पर उनकी नौकरी से जुड़े दूसरे अपराधों का संदेह भी है, उनकी जांच चल रही है. उन पर आपाराधिक मामला भी चलाया जा सकता है.

अदालत ने हूगज़िल्ट के माता-पिता को सहानुभूति के तौर पर 30 हज़ार युआन दिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार