म्यांमार में लोकतांत्रिक सरकार ने संभाली सत्ता

  • 2 फरवरी 2016
म्यांमार संसद इमेज कॉपीरइट Getty

म्यांमार में पहली बार लोकतांत्रिक सरकार चुने जाने के बाद संसद में बहुमत हासिल करने वाली एनएलडी और अन्य पार्टियों के सांसदों ने सोमवार को शपथ ली.

नई संसद को सबसे पहले नए राष्ट्रपति का चुनाव करना होगा क्योंकि मार्च में राष्ट्रपति थेन सेन का कार्यकाल ख़त्म हो रहा है.

म्यांमार का नया राष्ट्रपति कौन होगा इस पर अभी सस्पेंस बना हुआ है.

आंग सान सू ची के राष्ट्रपति बनने पर संवैधानिक रोक लगी हुई है क्योंकि उनके बेटे ब्रितानी नागरिक हैं.

हालांकि आंग सान सू ची कह चुकी हैं कि उनकी हैसियत राष्ट्रपति से भी ऊपर होगी और वो ही सत्ता चलाएंगी.

माना जा रहा है कि सू ची के लिए आख़िरी पल में संवैधानिक बदलाव करने पर समझौता हो सकता है ताकि वे राष्ट्रपति पद ग्रहण कर सकें.

इमेज कॉपीरइट AP

उनके क़रीबी माने जाने वाले उनके डॉक्टर का भी नाम इस दौड़ में लिया जा रहा है.

आंग सान सू ची की एनएलडी पार्टी ने नवंबर के ऐतिहासिक चुनावों में जितनी सीटों पर चुनाव लड़ा था उसमें 80 फ़ीसदी सीटें जीत ली थीं.

संसद में अब भी एक चौथाई सीटें सेना के पास हैं और कई प्रमुख मंत्रालय भी सेना के पास ही हैं, लेकिन बहुमत एनएलडी के पास ही रहेगा.

संसद के नए सत्र में शामिल होने के लिए पहुंची आंग सान सू ची ने पत्रकारों से कोई बातचीत नहीं की है.

एनएलडी के सांसद न्येन थिट ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया, "हम मानवाधिकार, लोकतंत्र और शांति लाने के लिए काम करेंगे."

अल्पसंख्यक काचिन स्टेट डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसद लामा नाउ आंग ने समाचार एजेंसी एपी को बताया कि संसद में उन्हें सीट मिली है जिसका इस्तेमाल वो अपने अल्पसंख्यक जाति के लोगों की मांगों को उठाने के लए करेंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार