आईएस से जुड़े 1.25 लाख ट्विटर एकाउंटों पर रोक

ट्विटर इमेज कॉपीरइट Reuters

सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर का कहना है कि उसने हिंसा और चरमपंथी गतिविधियों को बढ़ावा दे रहे एक लाख 25 हज़ार से ज़्यादा एकाउंट के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है.

अमरीकी कंपनी ने एक ब्लॉग में कहा कि इनमें से अधिकांश एकाउंट का ताल्लुक़ चरमपंथी संगठन आईएसआईएस से था.

कंपनी ने कहा, "हम चरमपंथ को बढ़ावा देने के लिए ट्विटर के इस्तेमाल की निंदा करते हैं."

ट्विटर ने साथ ही कहा कि उसने अपनी रिपोर्ट रिव्यूविंग टीमों को तेज़ी से कार्रवाई करने को कहा है.

कंपनी में पिछले साल के मध्य से अब तक एक लाख 25 हज़ार से ज़्यादा एकाउंट के इस्तेमाल पर रोक लगाई गई है.

इमेज कॉपीरइट AP

दुनियाभर में ट्विटर इस्तेमाल करने वालों की संख्या 50 करोड़ से ज़्यादा है.

कंपनी का कहना है कि इन एकाउंट को सस्पेंड करने से अच्छे परिणाम मिल रहे हैं और चरमपंथी गतिविधियां अब ट्विटर से दूर जा रही हैं.

ट्विटर का कहना है कि वह क़ानून का पालन कराने वाली एजेंसियों के साथ सहयोग कर रही है.

अमरीका सहित दुनियाभर की सरकारों ने सोशल मीडिया कंपनियों से कहा है कि वे हिंसा को बढ़ाने वाली ऑनलाइन गतिविधियों को रोकने के लिए कड़े उपाय करें.

2014 के अंत में हुए एक अध्ययन के मुताबिक़ चरमपंथ को बढ़ावा देने वाली सामग्री के लिए क़रीब 46000 एकाउंट का इस्तेमाल किया गया था और इसके बाद एक साल में इसमें बहुत तेज़ी आई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)