उत्तर कोरिया के रॉकेट दागने पर बरसा अमरीका

उत्तर कोरिया इमेज कॉपीरइट AFP

उत्तर कोरिया ने लंबी दूरी का रॉकेट दागा है जिसे उसके आलोचकों ने प्रतिबंधित मिसाइल तकनीक का परीक्षण बताया है.

उत्तर कोरिया के सरकारी टीवी के मुताबिक़ देश ने एक उपग्रह को सफलतापूर्वक पृथ्वी की कक्षा में स्थापित किया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

उधर दक्षिण कोरिया का कहना है कि रॉकेट को उत्तर कोरिया के उत्तर पश्चिमी बेस से छोड़ा गया और यह जापान के दक्षिणी ओकिनावा द्वीपों के ऊपर से गुज़रा.

अमरीका, जापान और दक्षिण कोरिया ने इसकी कड़ी आलोचना करते हुए रविवार को ही संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आपात बैठक बुलाए जाने का अनुरोध किया है.

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीका के विदेश मंत्री जॉन केरी ने कहा कि उनका देश मित्र देशों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है.

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून ने इसे निंदनीय बताते हुए उत्तर कोरिया से भड़काऊ कार्रवाई बंद करने का अनुरोध किया है.

उत्तर कोरिया के अंतरिक्ष विकास विभाग ने एक बयान में कहा कि रॉकेट को उत्तरी प्योनगान प्रांत के सोहाई अंतरिक्ष केंद्र से प्रक्षेपित किया गया और इसने दस मिनट बाद क्वांगम्योंगसोंग-4 उपग्रह को पृथ्वी की कक्षा में स्थापित कर दिया.

विश्लेषकों का मानना है कि प्योंगयांग ऐसे परमाणु हथियारों को विकसित कर रहा है जिनकी पहुंच अमरीका तक हो.

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों में उत्तर कोरिया पर किसी भी तरह के परमाणु हथियार या बैलेस्टिक मिसाइल के परीक्षण पर पाबंदी लगाई गई है.

इमेज कॉपीरइट AFP Getty

जापान के प्रधानमंत्री शिन्ज़ो आबे ने इसे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों को उल्लंघन बताया है.

दक्षिण कोरिया के विश्लेषकों का अनुमान था कि उत्तर कोरिया इस तरह का परीक्षण 16 फ़रवरी के ठीक पहले करेगा.

16 फ़रवरी को उत्तर कोरिया के पूर्व नेता किम जांग इल की जन्मतिथि है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)