अमरीका को क्या बनाना चाहते हैं ट्रंप?

  • 15 फरवरी 2016
डोनाल्ड ट्रंप इमेज कॉपीरइट Getty

अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव के लिए उम्मीदवारी हासिल करने मैदान में उतरे रिपब्लिकन डोनल्ड ट्रंप लगातार सुर्ख़ियों में बने हुए हैं.

न्यूयॉर्क के इस बिज़नेसमैन ने न्यूहैंपशायर की प्राइमरी में पहली चुनावी जीत दर्ज की. इससे पहले वो कभी किसी ऐसे पद पर नहीं रहे हैं, जिसमें चुनाव होता है.

उन्होंने सर्वेक्षणों में मिले समर्थन को चुनावी जीत में तब्दील करने में कामयाबी हासिल की है.

लेकिन डोनल्ड ट्रंप की क्या नीतियां हैं? यहां पेश है डोनल्ड ट्रंप की दस नीतियां और उनकी मान्यताएं.

1. ट्रंप का मानना है कि अमरीका में मस्जिदों पर निगरानी रखी जानी चाहिए. चरमपंथरोधी पहल के तहत मुसलमानों पर क़ानूनी रूप से नज़र रखनी चाहिए और अगर मस्जिदों को 'राजनीतिक रूप से ग़लत' माना जाता है, तो इसकी परवाह नहीं है.

2. ख़ुद को इस्लामिक स्टेट कहने वाले चरमपंथी संगठन के ख़िलाफ़ अमरीका को 'कठोर पूछताछ' के लिए वॉटरबोर्डिंग (पानी में सिर डुबोकर यातना देना) जैसे दूसरे तरीकों का इस्तेमाल करना चाहिए. उन्होंने कहा है कि ये तरीके चरमपंथियों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले तरीकों, जैसे सिर कलम करने, की तुलना में कुछ भी नहीं है.

इमेज कॉपीरइट AFP

3. ट्रंप इस्लामिक स्टेट को ख़त्म करने के लिए बमबारी को जायज़ ठहराते हैं. उनका दावा है कि कोई दूसरा उम्मीदवार इस्लामिक स्टेट पर उनसे ज़्यादा सख़्त नहीं है और वे चरमपंथियों को तेल की पहुंच से दूर करके कमजोर कर देंगे.

4. वे अवैध अप्रवासियों और सीरियाई प्रवासियों को रोकने के लिए अमरीका और मेक्सिको के बीच एक 'बहुत बड़ी दीवार' खड़ी करना चाहते हैं. ट्रंप का कहना है कि मेक्सिको से अमरीका आने वाले ज़्यादातर लोग अपराधी हैं. उन्होंने कहा, "वे अपने साथ ड्रग्स लाते हैं और वे बालात्कारी हैं." उनका मानना है कि मेक्सिको को भी इस दीवार को बनाने के लिए पैसा देना चाहिए. बीबीसी के एक विशेषज्ञ ने इस रकम का आकलन 2.2 अरब डॉलर से लेकर 13 अरब डॉलर तक किया है.

5. ट्रंप का मानना है कि अमरीका में रहने वाले 1.1 करोड़ अवैध अप्रवासियों को वापस में भेज देना चाहिए. उनके इस विचार को अप्रवासियों से नफ़रत करने और खर्चीले क़दम के रूप में देखा गया, जिसकी काफी आलोचना हुई. बीबीसी के आकलन के मुताबिक़ इतने लोगों को प्रत्यर्पित करने में 114 अरब डॉलर का खर्च है. ट्रंप 'जन्म से नागरिकता' की नीति को भी ख़त्म करना चाहते हैं. इस नीति के तहत अमरीका की धरती पर जन्म लेने वाले अवैध अप्रवासियों के बच्चों को अमरीकी नागरिकता मिलती है.

6. उनका मानना है कि उनके और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच सही तालमेल रहेगा. सीएनएन को दिए गए इंटरव्यू में ट्रंप ने कहा कि पुतिन और ओबामा एक-दूसरे को पसंद नहीं करते हैं लेकिन "संभव है कि मेरी उनके साथ अच्छी निभेगी और मैं नहीं सोचता कि अभी जैसी समस्या है वैसी उस वक्त रहेगी. "

इमेज कॉपीरइट getty

7. अमरीका के साथ ज़्यादा बराबरी के साथ व्यापार करने के लिए चीन को कई मुद्दों पर आगे आना चाहिए. उनका कहना है कि अगर वो चुने जाते हैं तो वे चीन को अपनी मुद्रा का अवमूल्यन करने से रोकेंगे और पार्यावरण और श्रम के मापदंडों को सुधारने के लिए उस पर दबाव डालेंगे.

8. ट्रंप का मानना है कि 'साफ हवा' और 'साफ पानी' का रखरखाव महत्वपूर्ण है लेकिन वे जलवायु परिवर्तन की बात को एक 'झांसा' मानते हैं. उनका मानना है कि व्यापार पर जलवायु परिवर्तन की वजह से लगने वाली पाबंदियां ग्लोबल मार्केट को कम प्रतिस्पर्धी बनाती हैं.

9. उनका कहना है कि अगर सद्दाम हुसैन और मुअम्मर गद्दाफ़ी अब भी सत्ता पर काबिज़ होते तो दुनिया ज्यादा बेहतर हालत में होती. सीएनएन से उन्होंने कहा कि लीबिया और इराक़ में हालात इन दोनों दिवंगत तानाशाहों के वक़्त से भी ख़राब हैं.

10. हाल में आई उनकी नई किताब 'क्रिपल्ड अमरीका' में ट्रंप का कहना है, "मैं वाक़ई एक बहुत अच्छा इंसान हूँ, मेरा यकीन करें, मुझे अपने अच्छे होने पर गर्व है लेकिन मैं अपने देश को फिर से महान बनाने के लिए जुनूनी और दृढ़ संकल्प किए हुए हूँ."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार