हताहतों की संख्या में चार फीसदी इज़ाफ़़ा

अफ़ग़ानिस्तान इमेज कॉपीरइट AP

संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान में जारी हिंसा में पिछले साल मारे गए और घायल हुए आम नागरिकों की संख्या में चार प्रतिशत का इज़ाफ़ा हुआ है.

वहां पिछले साल साढ़े तीन हज़ार आम लोगों की मौत हुई जबकि साढ़े सात हज़ार लोग घायल हुए हैं. ये एक साल में हताहत होने वाले लोगों की रिकॉर्ड संख्या है.

हालांकि 2015 में आम लोगों की मौतों की संख्या 2014 के मुक़ाबले 150 कम रही लेकिन इस दौरान घायलों की संख्या काफ़ी अधिक दर्ज की गई जिनमें बहुत से गंभीर हैं.

संयुक्त राष्ट्र ने जो आंकड़े जारी किए हैं उनके मुताबिक 62 फ़ीसदी मौतें सरकार विरोधी गुटों के हमलों में हुई थीं.

वहीं नैटो गठबंधन सेना समेत सरकार समर्थित सेना के हमलों में 17 फ़ीसदी लोगों की मौत हो गई थी. बाकी 17 फ़ीसदी मौतों के बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता.

अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान के ख़िलाफ़ अफ़ग़ानिस्तान की सेना समेत नैटो गठबंधन सेना लड़ रही हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार