वोडाफ़ोन को 14 हज़ार करोड़ के टैक्स का नोटिस

  • 16 फरवरी 2016
वोडाफोन इमेज कॉपीरइट AFP

टेलीकॉम कंपनी वोडाफ़ोन को भारत के आयकर विभाग ने 14,200 करोड़ रुपए का टैक्स भरने का नोटिस दिया है.

टैक्स जमा ना करने की सूरत में कंपनी की संपत्ति ज़ब्त करने की चेतावनी भी दी गई है.

इस मामले को पहले ही अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थ के जरिए सुलझाने की कोशिश हो रही है.

भारत सरकार अंतरराष्ट्रीय निवेशकों को लुभाने के लिए मेक इन इंडिया सप्ताह मना रही है और इसी बीच ये विवाद सामने आ गया है.

वोडाफ़ोन ने बयान जारी कर कहा है,’’इस नोटिस से सरकार और आयकर विभाग के बीच तालमेल न होे की बात सामने आई है, क्योंकि प्रधानमंत्री तो टेक्स-फ़्रेंड्ली माहौल की बात कर रहे हैं.’’

इमेज कॉपीरइट Getty

टेलिकॉम कंपनी वोडाफ़ोन और भारतीय आयकर विभाग के बीच 2007 से ही रस्साकसी चल रही है.

कंपनी ने 2007 में हांगकांग की हचिंसन व्हंमोपाओ (हच) के भारतीय मोबाइल यूनिट को 11 अरब डॉलर में खरीदा था.

भारत के आयकर विभाग का कहना है कि इस क़रार को लेकर वोडाफोन पर 2.2 अरब का कर बनता है.

वोडाफोन सरकार के दावे को इस आधार पर नकारती है कि करार भारत से बाहर हुआ था.

इस केस में कई उतार चढ़ाव आ चुके हैं और जानकारों का मानना है कि ये मामला विदेशी निवेशकों के मन में भारत की छवि को प्रभावित कर सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार