गवर्नर के हत्यारे के जनाज़े में हज़ारों की भीड़

  • 1 मार्च 2016
पाकिस्तान इमेज कॉपीरइट Reuters

पाकिस्तान पंजाब के गवर्नर सलमान तासीर के क़ातिल मुमताज़ क़ादरी को फांसी दिए जाने के बाद उनके नमाज़े जनाज़ा में रावलपिंडी में 50 हज़ार लोग इकट्ठा हुए.

गवर्नर सलमान तासीर ईशनिंदा क़ानून के विरोधी थे और उनके सुरक्षा गार्ड मुमताज़ क़ादरी ने उनकी 2011 में हत्या कर दी थी.

उस समय सलमान तासीर के हत्यारे क़ादरी को कई कट्टरपंथी इस्लामी लोगों ने 'हीरो' माना था. उनकी सज़ा का विरोध भी किया गया थाे

पढ़िए कौन थे सलमान तासीर

सोमवार को मुमताज़ क़ादरी को फांसी दे दी गई. इसके बाद पाकिस्तान के कुछ शहरों में विरोध प्रदर्शन भी हुए.

रावलपिंडी में सख़्त सुरक्षा इंतज़ामों के बीच में चल रहे क़ादरी के नमाज़े जनाज़ा के दौरान कई लोग उनके ताबूत पर फूल बरसा रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption मुमताज़ क़ादरी

पूरे रास्ते में और राजधानी इस्लामाबाद में हज़ारों पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था.

इमेज कॉपीरइट epa
Image caption क़ादरी की मौत की सज़ा पर पाकिस्तान के कुछ शहरों में विरोध प्रदर्शन हुए

क़ादरी को रावलपिंडी के लियाक़त बाग पार्क में दफ़न किया गया.

इमेज कॉपीरइट epa

पाकिस्तान में ईशनिंदा क़ानून बहुत सख़्त है और इसके तहत अगर कोई इस्लाम का अपमान करता है तो उसे मौत की सज़ा भी हो सकती है.

मानवाधिकार संगठनों का आरोप है कि पाकिस्तान के विवादास्पद ईशनिंदा क़ानून को निजी रंजिश निकालने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

तासीर ने राष्ट्रपति से ईशनिंदा क़ानून के तहत मौत की सज़ा पाने वाली एक ईसाई महिला को माफ़ी देने की अपील की थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार