शेक्सपीयर की क़ब्र में छुपे राज़!

  • 2 मार्च 2016
विलियम शेक्सपीयर इमेज कॉपीरइट z

अंग्रेज़ी के महान नाटककार विलियम शेक्सपीयर की 400वीं पुण्यतिथि के मौक़े पर उनकी क़ब्र स्कैन की जा रही है ताकि उनसे जुड़ी जानकारियां हासिल की जा सकें.

इंगलैंड के स्ट्रैटफ़र्ड अपॉन एवन में शेक्सपीयर की क़ब्र है जिसे आज तक खोदा नहीं गया है.

स्कैन की मदद से क़ब्र को बिना नुक़सान पहुंचाए नई जानकारियां मिलने की उम्मीद है.

होली ट्रिनिटी चर्च में, जहां शेक्सपीयर की क़ब्र मौजूद है, उनके परिवार के पांच लोग दफ़न हैं.

इमेज कॉपीरइट OTHERS
Image caption शेक्सपीयर की क़ब्र

ऐसी अटकलें लगती रही हैं कि क़ब्र के नीचे शायद कोई सन्दूक़ दबा है. ये भी पूछा जाता रहा है कि क्या शेक्सपीयर को दफ़नाते वक़्त उनके साथ दूसरी चीज़ें भी रखी गई होगीं.

विश्व के महान नाटककारों में से एक शेक्सपीयर का निधन साल 1616 में हुआ था. उनकी क़ब्र पर चार पंक्तियां खुदी हैं.

जिसमें कुछ शब्द ऐसे हैं जिससे समझा जाता है कि क़ब्र खोदने पर मनाही है.

इमेज कॉपीरइट SHAKESPEARES GLOBE
Image caption शेक्सपीयर विशेषज्ञों की बैठक

क़ब्र की जांच शेक्सपीयर पर होने वाले एक वैश्विक जमावड़े के पहले पूरी हो जाएगी. ये कार्यक्रम हर पांच साल पर आयोजित होता है.

इस साल इससे जुड़े कार्यक्रम नाटककार के जन्म स्थान स्ट्रैटफ़र्ड और लंदन दोनों जगहों पर होंगे.

बर्मिंघम विश्वविद्यालय के शेक्सपीयर इंस्टीच्यूट के प्रोफ़ेसर माइकल डॉब्सन का कहना है कि इसके पहले की पुण्यतिथियों पर, कार्यक्रम नाटककार के जन्मस्थान पर हों या उनके कार्यस्थान पर, इस मुद्दे पर मतभेद रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption शेक्सपीयर के नाटकों का पहला संग्रह 'फ़र्स्ट फ़ोलियो'

जुलाई में शुरू होने वाली विश्व शेक्सपीयर कांग्रेस में शेक्सपीयर विषय के एक हज़ार विशेषज्ञ, शोधकर्ता और अकादमीशियन जमा होंगे.

लंदन में उस समय के थिएटर की एक अनुकृति तैयार की गई है.

इमेज कॉपीरइट OTHERS
Image caption शेक्सपीयर का जन्म स्थान

स्कैन रिपोर्ट इसी मौक़े पर सार्वजनिक की जाएगी.

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

शेक्सपीयर बर्थ प्लेस ट्रस्ट के रिसर्च विंग के प्रमुख पॉल एडमंडसन ने बताया, "खोज से शेक्सपीयर की रोज़मर्रा ज़िन्दगी के बार में कई बातें पता चली हैं. उनके घर के कोल्ड स्टोर, जिसे आप उस समय का फ्रिज कह सकते हैं, और रसोई घर का चूल्हा."

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार