रिपब्लिकनों को सता रहा है ट्रंप का 'डर'

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीका में राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी के लिए जारी दौड़ में आगे चल रहे रिपब्लिकन पार्टी के डोनाल्ड ट्रंप को उन्हीं की पार्टी के कई वरिष्ठ रिपब्लिकन नेताओं का कड़ा विरोध झेलना पड़ रहा है.

डोनाल्ड ट्रंप ने सुपर ट्यूज़डे को हुई 11 राज्यों की वोटिंग में अलाबामा, जॉर्जिया, टेनेसी, वर्जीनिया, मैसाचुसेट्स और अराकांसस सहित सात राज्यों में जीत हासिल की है.

बुधवार को सीनेटर लिंडसे ग्राहम ने ट्रंप को चेतावनी देते हुए कहा था कि वे राष्ट्रपति पद के लिए 8 नवंबर को होने वाले चुनाव में हार जाएंगे.

इमेज कॉपीरइट Getty

इस बीच चुनावों में ख़राब प्रदर्शन करने वाले सेवानिवृत्त न्यूरोसर्जन बेन कार्सन ने संकेत दिए हैं कि वे दौड़ से बाहर हो सकते हैं.

उन्होंने एक बयान में कहा कि राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी की दौड़ में उन्हें आगे अब 'कोई उम्मीद नज़र नहीं' आती, इसलिए वे गुरुवार को टीवी पर होने वाली बहस में हिस्सा नहीं लेंगे.

इस बीच पूर्व उम्मीदवार मिट रोमनी ने कहा कि वे गुरुवार को अपने भाषण में ट्रंप को चुनौती दे सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty

रोमनी उद्योगपति डोनाल्ड ट्रंप की इस मान्यता के ख़िलाफ़ हैं कि मुसलमानों के अमरीका आने पर रोक लगनी चाहिए.

सुपर ट्यूज़डे पर डोनाल्ड ट्रंप को मिली सफलता से रिपब्लिकन उम्मीदवार के रूप में व्हाइट हाउस की दौड़ में उनकी स्थिति मज़बूत हो गई है.

टेक्सस सीनेटर टेड क्रूज़ ने ट्रंप को टेक्सस, ओकलाहोमा और अलास्का में जबकि रिपबल्किन मार्को रुबियो ने मिनेसोटा में हराया.

डेमोक्रेट हिलेरी क्लिंटन ने सुपर ट्यूज़डे पर आठ राज्यों में जीत दर्ज की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार