'आईएस' बच्चों को बना रहा है चरमपंथी

इमेज कॉपीरइट AFP

संयुक्त राष्ट्र की ओर से एक रिपोर्ट में कहा गया है कि इस्लामिक स्टेट चरमपंथी अपने नियंत्रण वाले इलाक़ों में बच्चों को चरमपंथी, आत्मघाती हमलावर, जासूस और जल्लाद बनाने का प्रशिक्षण दे रहे हैं.

रिपोर्ट में कहा गया है कि ये चरमपंथी बच्चों को फांसी पर नज़र रखने और कटे हुए सिरों के साथ फ़ुटबॉल खेलने को कहते हैं.

ऐसा करके वो बच्चों को हिंसा के लिए तैयार कर रहे हैं.

शोधकर्ताओं ने पाया कि ट्रेनिंग कर रहे इन बच्चों को प्रशिक्षण दे रहे चरमपंथियों से ज़्यादा पाक माना जाता है क्योंकि ये बच्चे धर्मनिरपेक्ष दुनिया से ताल्लुक नहीं रखते, जिसे सही माना जाता है.

यह रिपोर्ट ब्रितानी संसद में बुधवार को पेश की जाएगी.

यह रिपोर्ट क्वालियम फ़ाउंडेशन लंदन और कनाडा की रोमियो डालैरे बाल सैनिक ने पेश की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार