इन दो दोस्तों की तस्वीर क्यों हुई वायरल?

इमेज कॉपीरइट Facebook

रविवार को तुर्की के अंकारा में हुए कार बम विस्फोट के बाद दो युवाओं की तस्वीर वायरल हो गई.

यह तस्वीर ऐसे हादसे के बाद दुख और देश में लगातार बढ़ रही असुरक्षा को दर्शाने के लिए लोग शेयर कर रहे हैं.

दरअसल, ये तस्वीर दो दोस्तों की है. तस्वीर में दोनों कैमरा के सामने मुंह बना रहे हैं, फ़न कर रहे हैं. लेकिन दुखद ये है कि यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले ये दोनों दोस्त अलग-अलग चरमपंथी हमले के शिकार बन चुके हैं. पांच महीने के अंतराल पर हुए आत्मघाती हमले में दोनों की मौत हुई है.

तस्वीर में दाईं ओर दिख रहा युवा अली डेनिज़ उज़ात्मज़ है, जिसकी मौत 10 अक्तूबर को अंकारा में तब हुई जब एक शांति रैली को दो बम धमाकों से निशाना बनाया गया था.

उस हमले में 100 से ज़्यादा लोग मारे गए थे, उनमें 19 साल का डेनिज़ भी शामिल थे.

सरकार ने उस हमले के लिए इस्लामी चरमपंथियों को ज़िम्मेदार ठहराया है. उस वक़्त तस्वीर में बाईं ओर दिख रहे ओज़ानकेन अक्कुस ने अपने दोस्त की मौत के बाद हमले की निंदा की थी.

इमेज कॉपीरइट Facebook
Image caption सबसे नीचे दायीं ओर से दूसरी तस्वीर ओज़ानकेन की है.

अक्कुस ने अपने दोस्त के बारे में ट्विटर पर लिखा था, “वह हमारे दिलों में हमेशा बना रहेगा.”

लेकिन रविवार को हुए हमले ने अंकारा के मिडिल ईस्टर्न यूनिवर्सिटी के इंजीनियरिंग में पहले साल के छात्र ओज़ानकेन की जान ले ली.

उनका अंतिम संस्कार उनके होमटाउन तुर्की के दक्षिणपूर्व स्थित गाज़ीअंटेप में होगा. यहीं दोनों दोस्त एक साथ बड़े हुए थे और स्कूली शिक्षा पूरी की थी.

रविवार को हुए हमले के लिए तुर्की अधिकारियों ने कुर्द चरमपंथियों को ज़िम्मेदार ठहराया है.

इन दो हमलों के बीच बीते महीने अंकारा में हुए बम विस्फोट के दौरान 28 लोगों की मौत हुई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार