'उम्मीदवार न बना तो हो सकते हैं दंगे'

इमेज कॉपीरइट Reuters

रिपब्लिकन पार्टी से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी की दौड़ में आगे चल रहे डोनल्ड ट्रंप ने कहा कि अगर लोकप्रिय वोट जीतने के बावजूद पार्टी उनकी उम्मीदवारी पर मुहर नहीं लगाती, तो उनके समर्थक दंगे कर कर सकते हैं.

रिपब्लिकन पार्टी के कुछ सदस्यों ने संकेत दिया है कि वे "ब्रोकर्ड कन्वेंशन" के विकल्प के लिए तैयार होेंगे, जहां मतदाता नहीं बल्कि पार्टी के अधिकारी ही उम्मीदवार का चयन करते हैं.

यह तभी होगा, जब ट्रंप की उम्मीदवारी सुरक्षित करने के लिए ज़रूरी 1,237 प्रतिनिधि कम हों.

हालांकि अभी यह साफ नहीं है कि वह कनवेंशन (समझौते) से पहले इस सीमा तक पहुँचेंगे या नहीं.

कुछ रिपब्लिकन नेताओं ने इशारा किया है कि वो किसी "ब्रोकर्ड कन्वेंशन" के लिए तैयार हैं जिसमें मतदाता नहीं बल्कि पार्टी के लोग व्यक्ति को नामांकित करें.

मगर ऐसा तभी होगा अगर ट्रंप को नामांकन के लिए 1237 प्रतिनिधियों की कमी पड़ जाए. अभी यह साफ़ नहीं है कि क्या ट्रंप समझौते से पहले इस आंकड़े तक पहुँच सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

ट्रंप ने सीएनएन चैनल को बताया, "मैं एक बड़े वर्ग का प्रतिनिधित्व करता हूं जिसमें ज़्यादातर पहली बार वोट देने वाले मतदाता हैं."

वे कहते हैं, "अगर आप इनको मताधिकार से वंचित करेंगे तो मेरे ख़्याल से ऐसी दिक़्क़तें आ सकती हैं, जो आपने पहले कभी नहीं देखी होंगी."

ट्रंप के साथ कम से कम 646 प्रतिनिधि हैं और ये आने वाले कई चुनावों के लिए उनके पक्ष में हैं. मगर उन्हें प्रतिद्वंदी टेक्सस के सीनेटर टेड क्रूज और ओहायो के गवर्नर जॉन केसिक से मिल रही कड़ी टक्कर की वजह से रफ़्तार पर असर पड़ा है.

क्रूज के साथ 397 और केसिक से 142 प्रतिनिधि जुड़े हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty

मंगलवार को ट्रंप ने चार राज्यों मसलन इलिनॉय, मिसूरी, फ़्लोरिडा और उत्तरी कैरोलाइना में प्राइमरी चुनाव में जीत दर्ज की है.

हालांकि ओहायो में केसिक की जीत ने यह संभावना जगाई है कि ट्रंप के प्रतिनिधियों की संख्या कम हो सकती है.

फिलहाल उम्मीदवारी में दूसरे नंबर पर मौजूद क्रूज़ भी ब्रोकर्ड कन्वेंशन के विरोध में हैं.

पहले फ़्लोरिडा के सीनेटर मार्को रुबियो राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी के लिए प्रमुख दावेदारों में से एक माने जा रहे थे, पर मंगलवार को राज्य प्राइमरी में ख़राब प्रदर्शन के बाद वह रेस से बाहर हो गए.

ट्रंप ने कहा कि 21 मार्च को ऊटा के साल्ट लेक सिटी में फ़ॉक्स न्यूज़ रिपब्लिकन बहस में वे शामिल नहीं होंगे.

केसिक ने कहा कि ट्रंप बहस के लिए नहीं आएंगे तो वह भी इसमें हिस्सा नहीं लेंगे ऐसे में यह बहस रद्द करनी पड़ी.

राजनीति में बिना किसी पूर्व अनुभव के उतरे अरबपति कारोबारी ट्रंप डेमोक्रेट पार्टी के अलावा अपने रिपब्लिकन उम्मीदवारों के निशाने पर भी हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार