किन महलों में रहते थे दुनिया के 5 तानाशाह?

19 मार्च को रोमानिया के बुखारेस्ट में काउशेसकू परिवार के आधिकारिक आवास को आम लोगों के लिए खोल दिया गया है. इस मौके पर बीबीसी आपको पांच तानाशाहों के महलों के बारे में जानकारी दे रहा है.

रोमानिया के पूर्व शासक के इस आवास का नाम स्प्रिंग पैलेस है. इसे साम्यवादी सरकार के पतन के 25 साल के बाद आम लोगों के लिए खोला गया है. निकोले और इलेना काउशेसकू इस आवास में 1960 से रह रहे थे. तब रोमानिया की अधिकांश जनता गरीबी में जीवन बिता रही थी.

उन्हें 1989 में सत्ता से हटाया गया था और फांसी पर लटका दिया गया था. यह एक ख़ूबसूरत विला है जिसे काउशेसकू दंपती ने सोने के रंग से रंगवाया हुआ था. यहां के फर्नीचर भी आभूषणों से भरे हैं. इस आवास में करीब 80 कमरे हैं, एक सिनेमा हॉल और स्विमिंग पूल भी है. यह करीब 3.5 एकड़ में फैला हुआ है.

1989 की रोमानियाई क्रांति के बाद इस पैलेस पर सरकार का कब्ज़ा हो गया, जहां आधिकारिक आयोजन होते थे. 2014 में इसकी नीलामी की कोशिश हुई लेकिन कोई ख़रीददार नहीं मिला.

2011 में लीबियाई सिविल वार में मारे जाने से पहले लीबियाई नेता मुअम्मर गद्दाफ़ी का बेस त्रिपोली के बाब अल अज़िज़िया कंपाउंड की इमारत में था. कर्नल गद्दाफी के रहने के चलते इस इमारत को लेकर लीबियाई लोगों में काफी डर नज़र आता था.

यह इमारत एक तरह से गद्दाफी के राज की पहचान थी. इसलिए सब विद्रोही सेना ने 2011 में त्रिपोली पर हमला किया तो इसी इमारत को निशाना बनाया. इस इमारत के अंदर काफी सुरंगें पाई गईं.

पहले कहा जाता था कि इसमें एक थिएटर कांपलैक्स और हॉस्पिटल भी है. एक सुरंग के बीच गोल्फ कोर्स बनाया गया था. अब इस इमारत को नष्ट करके यहां पार्क बनाने का प्रस्ताव है.

यह इमारत फिलिपींस पर दो दशक तक राज करने वाले तानाशाह फर्डिनांड मार्कोस की थी. फर्डिनांड और इमेल्ड मार्कोस सैंटो निनो शराइन की इमारत का निर्माण 1970 के दशक में शुरू हुआ था और यह 1981 में पूरा हुआ था.

यह उनकी पत्नी इमेल्डा के होमटाउन में बनाया गया था और उनके धार्मिक गुरू के नाम पर इसका नाम रखा गया था. इस इमारत में बहुमूल्य पेंटिंग, प्राचीन धरोहर और अन्य संग्रहणीय चीज़ों का बड़ा संग्रह मौजूद है. यह करीब 21,500 फ़ीट में फैली हुई है.

इसके दूसरे तल्ले पर शानदार बॉलरूम, एक स्विमिंग पूल, मेहमानों के लिए 13 कमरे, डाइनिंग रूम इत्यादि मौजूद थे. इसे अब संग्रहालय का रूप दे दिया गया. यह फर्डिनिंडो दंपती के बनाए 29 आवासों में से एक है. उन्हें 1986 में अपदस्थ किया गया.

यूक्रेन के कीव स्थित इस शानदार इमारत को मेज़हेहिरिया पैलेस कहते हैं. कीव की इस ऐश्वर्यशाली इमारत में यूक्रेन के राष्ट्रपति विक्टर यानोकोविच रहा करते थे.

इस इमारत को आम लोगों के लिए पहली बार फरवरी, 2014 में खोला गया. जब संसद ने उन्हें राष्ट्रपति पद से हटाने का फ़ैसला लिया था. वे तबसे रूस में शरणार्थी बने हुए हैं. इस इमारत में कृत्रिम वाटर वे, एक चिड़ियाघर और एक गोल्फ कोर्स मौजूद है. इसके पार्क मूर्तियों और झरनों से भरे हैं.

इमारत में टेनिस कोर्ट भी है. यह इमारत यूक्रेन में भ्रष्टाचार के स्तर को दर्शाने का प्रतीक बन चुका है.

इराक़ के बग़दाद में स्थित है सद्दाम हुसैन का रिपब्लिकन पैलेस. 2003 में, अमरीका के नेतृत्व में मित्र देश की सेनाएं सद्दाम हुसेैन को सत्ता से हटाने के लिए इराक में घुसी थीं. सद्दाम को 2006 में फांसी की सजा दी गई थी.

इराक की राजधानी बगदाद और देश के दूसरे हिस्सों में उनके कई पैलेस थे. एक पैलेस में अंडरग्राउंड कमांड सेंटर और न्यूक्लियर शेल्टर भी था. इसके अलावा पावर स्टेशन, एयर फिल्टरिंग प्लांट और वाटर ट्रीटमेंट प्लांट भी मौजूद था. दक्षिण इराक स्थित बसरा के एक पैलेस को सद्दाम ने 1990 में बनाया था.

इसके सामने से 56 खिड़कियां नज़र आती हैं. 18 विशालकाय कमरे, 12 बालकनी, आठ शौचालय, पांच सीढ़ी कक्ष और तीन अलग-अलग छतें थीं. ऐसी 15 इमारतों से ये पूरा कॉम्पलैक्स बना हुआ था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)