'सीरिया में मारा गया आईएस का बड़ा कमांडर'

  • 25 मार्च 2016
अब्दुल रहमान मुस्तफ़ा अल क़ादुली इमेज कॉपीरइट FBI

अमरीका ने दावा किया है कि सैन्य कार्रवाई में चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट के कई लड़ाकों की मौत हो गई है, जिनमें कथित तौर पर आईएस का दूसरे नंबर का कमांडर अब्दुल रहमान मुस्तफ़ा अल क़ादुली भी शामिल है.

अमरीकी रक्षा मंत्री ऐश कार्टर ने कहा कि अमरीका को सीरिया और इराक़ में कई महत्त्वपूर्ण जीत मिल रही हैं.

एनबीसी न्यूज़ के मुताबिक़ अधिकारियों ने कहा कि अब्दुल रहमान की मौत गुरुवार को हो गई थी.

तुर्की मूल के क़ादुली का जन्म इराक़ के मोसुल में हुआ था. अब्दुल रहमान को हाजी इमान के नाम से जाना जाता है.

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीका ने क़ादुली पर 70 लाख डॉलर (4.67 करोड़ रुपए से ज़्यादा) का इनाम रखा था.

रक्षा अधिकारियों ने एनबीसी न्यूज़ को बताया कि विशेष ऑपरेशन दस्ते ने सीरिया में गुरुवार सुबह हेलिकॉप्टर उतारकर क़ादुली को ज़िंदा पकड़ने की कोशिश की. मगर सैनिक कार्रवाई में क़ादुली के साथ तीन और चरमपंथियों की मौत हो गई.

अमरीका के मुताबिक़ क़ादुली पहले इराक़ में चरमपंथी संगठन अल-क़ायदा से जुड़े, जहां वह अबू मुसाब अल-ज़रक़ावी के तहत काम कर रहे थे.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption आईएस के सैन्य कमांडर उमर शिशानी हाल ही में सीरिया पर की गई अमरीकी बमबारी के निशाने पर रहे हैं.

2012 में इराक़ी जेल से रिहा होने के बाद क़ादुली सीरिया में इस्लामिक स्टेट में शामिल हो गए.

पिछले साल कुछ सूत्रों ने आईएस के मुखिया अबु बक़र अल बग़दादी के हमले में घायल होने के बाद कमान संभालने वाले 'अबु अला अल आफ़्री' के तौर पर क़ादुली की पहचान की थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार