'नकली आत्मघाती बेल्ट' से विमान का अपहरण

  • 29 मार्च 2016
इमेज कॉपीरइट Getty

मिस्र की इजिप्ट एयर के विमान का अपहरण कांड मंगलवार को घंटों तक चले नाटकीय घटनाक्रम के बाद समाप्त हो गया.

फ्लाइट एमएस181 के सभी यात्रियों और चालक दल के सदस्यों को सुरक्षित रिहा करा दिया गया जबकि विमान का अपहरण करने वाले व्यक्ति ने आत्मसमर्पण कर दिया है.

एलेक्जेंड्रिया से क़ाहिरा जा रहे विमान को इस व्यक्ति ने यह कहते हुए साइप्रस ले जाने को कहा कि उसने आत्मघाती बेल्ट पहनी हुई है.

हालांकि एयरलाइन के अधिकारियों का कहना है कि साइप्रस के अधिकारियों ने उन्हें बताया है कि बेल्ट नकली थी.

विमान को अगवा क्यों किया गया, ये साफ़ नहीं है लेकिन साइप्रस के राष्ट्रपति ने कहा कि इस घटना का आतंकवादी गतिविधि से कोई संबंध नहीं है.

साइप्रस सरकार का कहना है कि लारनाका एयरपोर्ट पर उतरे इस विमान में सवार किसी भी व्यक्ति को किसी तरह की चोट नहीं आई है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

कुछ रिपोर्टों के मुताबिक़ अपहरणकर्ता सिर्फ़ अपनी नाराज़ पत्नी से बात करना चाहता है जो साइप्रस में है, वहीं कुछ अन्य ख़बरों में कहा गया है कि अपहरणकर्ता मिस्र की जेल से महिला क़ैदियों को रिहा कराना चाहता था.

इजिप्ट एयर का कहना है कि विमान में कुल 56 यात्री और छह चालक दल के सदस्य थे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

विमान को अग़वा करने वाला मिस्र का बताया जा रहा है. तस्वीरों में उसे विमान से उतरते हुए दिखाया गया है.

मंगलवार की सुबह जैसे ही ये विमान साइप्रस के लारनाका हवाई अड्डे पर उतरा, तो पुलिस ने उसे चारों तरफ से घेर लिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार