गर्भपात पर बयान, कुछ ही घंटों में पलटे ट्रंप

  • 31 मार्च 2016
इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी की उम्मीदवारी में आगे चल रहे डोनल्ड ट्रंप गर्भपात पर दिए गए अपने विवादास्पद बयान से पलट गए हैं.

इस मुद्दे पर उन्होंने अमरीकी चैनल एमएसएनबीसी को बयान दिया था.

उन्होंने कहा था कि यदि गर्भपात को अपराध घोषित कर दिया जाए तो जो महिलाएं गर्भपात कराती हैं उन्हें सज़ा दी जानी चाहिए.

लेकिन कुछ ही घंटों में वो अपनी बात से पलटे और उन्होंने एक बयान जारी कर कहा कि डॉक्टर को इसके लिए कानूनी तौर पर जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए.

इमेज कॉपीरइट AP

एमएसएनबीसी पर ट्रंप के गर्भपात पर दिए पहले बयान की काफी आलोचना हुई थी.

उन्होंने कहा कि गर्भपात को लेकर उनकी सोच में बदलाव नहीं हुआ है. वह कुछ अपवादों के साथ गर्भपात का समर्थन करते हैं.

अमरीका में 1973 से सुप्रीम कोर्ट के महत्वपूर्ण आदेश के बाद गर्भपात को वैध घोषित किया जा चुका है.

डेमोक्रैटिक पार्टी की उम्मीदवारी की दौड़ में आगे चल रहीं हिलेरी क्लिंटन ने उनके बयान पर कहा था कि गर्भपात को अवैध ठहराने से केवल महिलाएं और डॉक्टर ही अपराधी बने जाएँगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार