पनामा: कैमरन ने दी सफ़ाई, आइसलैंड के पीएम का इस्तीफ़ा

  • 5 अप्रैल 2016
इमेज कॉपीरइट Getty

पनामा की कानूनी फर्म मोसाक फोंसेका के लाखों गोपनीय दस्तावेज़ों में जाने-माने लोगों के नाम सामने आने से कई देशों में हड़कंप मच गया है.

कई लोगों के ख़िलाफ़ कानूनी कार्रवाई करने की मांग हो रही है. कई देशों के नेता अपनी सफ़ाई दे रहे हैं.

जहां ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने अपने पिता का नाम दस्तावेज़ों में आने पर सफ़ाई दी है, वहीँ आइसलैंड के प्रधानमंत्री को इस्तीफ़ा देना पड़ा है.

पढ़ें: अमिताभ बच्चन की सफाई
इमेज कॉपीरइट none

ब्रिटेन:

ब्रिटेन में विपक्षी लेबर पार्टी ने मांग की है कि उन सभी ब्रिटिश नागरिकों की स्वत्रंत जांच होनी चाहिए जिनका नाम इन दस्तावेज़ों में आया है.

पनामा पेपर्स में ये सामने आया था कि कैमरन के पिता इयन ने एक विदेशी फंड को चलाने में मदद की थी.

लेबर पार्टी ने नेता जेरेमी कोर्बिन ने मांग की है कि जिनका भी नाम टैक्स बचाने के पनाहगाहों से जुड़ा पाया गया है, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन के परिवार समेत उन सभी ब्रिटिश नागरिकों की स्वत्रंत जांच हो.

हालांकि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा है कि कैमरन के दिवंगत पिता के विदेशों में निवेश कोष में कैमरून की कोई हिस्सेदारी नहीं है.

डेविड कैमरन ने कहा है कि विदेशी ट्रस्टों में न तो उनका कोई पैसा है न शेयर.

इमेज कॉपीरइट Reuters

आइसलैंड:

पनामा के लीक हुए दस्तावेज़ों में नाम आने के बाद आइसलैंड के प्रधानमंत्री सिंगमंडर गुनलॉगसन ने पद से इस्तीफ़ा दे दिया है.

दस्तावेज़ों के मुताबिक प्रधानमंत्री सिंगमंडर गुनलॉगसन और उनकी पत्नी की एक कंपनी थी. लीक दस्तावेज़ों में प्रधानमंत्री और उनके परिवार की वित्तीय जानकारियां सामने आने के बाद संसद के सामने विरोध प्रदर्शन हुए.

पनामा लीक: ऐसे होती है माल-मिलकियत छिपाने की हेरा-फेरी
इमेज कॉपीरइट AFP

पाकिस्तान:

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ के परिवार के सदस्यों का नाम भी मोसाक फोंसेका के लीक हुए दस्तावेज़ में शुमार है.

हालांकि उनके बेटे हुसैन नवाज़ ने इसका खंडन करते हुए कहा है कि उनका परिवार किसी भी गलत काम में शामिल नहीं है.

इमेज कॉपीरइट Rex Features

रूस:

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन के प्रवक्ता दमित्री पेशकोव ने मोसाक फोंसेका के लीक दस्तवेज़ों में पुतिन का नाम जोड़े जाने की निंदा की है.

पेशकोव ने इसे पुतिनफोबिया यानी 'पुतिन का भय' करार दिया और कहा कि इन दस्तावेज़ों में ऐसा कुछ भी नहीं जिसमें पुतिन का नाम जोड़ा जा सके.

'पुतिन के दोस्त ने करोड़ों डॉलर बनाए'

चीन:

इन दस्तावेज़ों में चीन के सात मौजूदा और पूर्व नेताओं के तार विदेशी फर्म से जुड़े बताए गए हैं.

इन दस्तावेज़ों में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के परिवार के सदस्यों के नाम हैं. इनमें चीन की शक्तिशाली स्टैंडिंग कमेटी के सदस्य झांग गाओली और लियू युन्शान के रिश्तेदारों के नाम भी हैं.

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता होंग ली ने इसे आधारहीन रिपोर्ट बताते हुए खारिज कर दिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार