पनामा लीक: फ़ीफ़ा अध्यक्ष इनफेंटीनो पर सवाल

फ़ीफ़ा के अध्यक्ष गियानी इनफेंटीनो इमेज कॉपीरइट AP

पनामा की कानूनी फर्म मोसाक फोंसेका के लीक हुए दस्तावेज़ों से पता चला है कि फुटबॉल नियामक संस्था फ़ीफ़ा के नए अध्यक्ष गियानी इनफेंटीनो ने रिश्वत लेने के मामले में अभियुक्त दो क़ारोबारियों के साथ एक अनुबंध पर दस्तख़त किए थे.

ह्यूगो और मारियानो नाम के दो क़ारोबारियों ने चैम्पियंस लीग फुटबॉल के लिए अधिकार ख़रीदे थे जिन्हें उन्होंने लगभग तीन गुना अधिक दाम पर फ़ौरन बेच दिया था.

पनामा लीक से दुनियाभर में हड़कंप

वर्ष 2006 में इस अनुबंध पर तब दस्तख़त हुए थे जब गियानी इनफेंटीनो यूनियन ऑफ यूरोपियन फुटबॉल एसोसिएशन (यूईएफए) के निदेशक थे.

यूईएफए ने पहले कहा था कि वो उन 14 लोगों से किसी तरह का क़ारोबार नहीं कर रही है जिन्हें एफ़बीआई ने फ़ीफ़ा में भ्रष्टाचार मामलों की जांच में दोषी पाया है.

बीबीसी को अब ये बताया गया है कि टीवी के अधिकार सबसे अधिक बोली लगाने वाले को बेचे गए थे और इसके लिए खुली प्रतिस्पर्धात्मक नीलामी प्रक्रिया को अपनाया गया था.

इमेज कॉपीरइट Getty

फ़ीफ़ा के एक वरिष्ठ सूत्र ने बीबीसी को बताया कि फ़ीफ़ा की ही एक समिति को इस सौदे की जांच करना चाहिए ताकि सच सामने आ सके.

ह्यूगो और मारियानो को अर्जेंटीना से अमरीका प्रत्यर्पित किया जाना है.

इस पूरे मामले पर यूईएफए ने ज़ोर देकर कहा है कि उसने कुछ ग़लत नहीं किया है.

मोसाक फोंसेका के लीक दस्तावेज़ों से सामने आ रही इस जानकारी से इनफेंटीनो और फ़ीफ़ा दोनों की छवि ख़राब हो सकती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार