नए टीके से पोलियो का ख़ात्मा

इमेज कॉपीरइट Reuters

दुनिया भर के 150 से अधिक देशों ने मिलकर पोलियो ख़त्म करने के लिए एक नया टीका तैयार किया है.

सेहत अभियान से जुड़े लोगों का मानना है कि पोलियो उन्मूलन में यह टीका मील का पत्थर साबित होगा.

नया टीका दो बचे हुए पोलियो वाइरस को 18 महीनों में ख़त्म कर देगा.

पोलियो उन्मूलन के लिए अगले पखवाड़े में 155 देश के हज़ारों लोग इस बड़ी कामयाबी के हिस्सेदार होंगे.

माना जा रहा है कि नए टीके का प्रभाव सबसे अधिक विकासशील देशों के साथ-साथ रूस और मैक्सिको जैसे अमीर देशों में भी देखने को मिलेगा.

इमेज कॉपीरइट SPL

नए टीके को भी बूंद के रूप में मुंह में डाला जाएगा. इसलिए स्वास्थ्य कर्मचारियों को किसी तरह के नए प्रशिक्षण की आवश्यकता नहीं है.

अमरीकी संस्था सेंटर फ़ॉर डिज़ीज़ कंट्रोल के डॉ स्टीफ़न कोची बताते हैं कि नई पोलियो वैक्सीन तीनों तरह के पोलियो वाइरस को कमज़ोर करती है.

वैसे अब टाइप टू पोलियो वाइरस के घटक की आवश्यकता नहीं रह गई है, क्योंकि अब यह वाइरस दुनिया में नहीं है.

टाइप टू पोलियो वाइरस दुनिया से 1999 में ही ख़त्म किया जा चुका है.

2015 में लकवा मरीजों के महज़ 74 मामले सामने आए थे जबकि इस साल अभी तक ऐसे 10 मामले आ चुके हैं.

ये सभी मामले अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान के हैं. अफ्रीका पिछले वर्ष से पोलियो मुक्त हो चुका है.

पिछले तीस से अधिक वर्षों से पोलियो से लड़ने के लिए पोलियो टीके का प्रयोग किया जा रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार