विमान और टैंक भी ध्वस्त कर सकता है छोटू

पाकिस्तानी सेना की नाक में दम करने वाली छोटू गैंग अपने आप में एक छोटी सेना के बराबर है जिसके पास बड़ी मात्रा में आधुनिक हथियार और सैन्य साजोसामान मौजूद है.

इस गैंग ने सात पाकिस्तानी पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी है जबकि 24 पुलिसवाले अब भी उसकी गिरफ्त में हैं.

पाकिस्तानी सेना तीन हफ्तों से इस गैंग के खिलाफ अभियान चला रही है.

बताया जाता है इस गैंग के पास विमान को मार गिराने वाली तोंपें भी हैं और ये गिरोह रॉकेट लॉन्चर, लाइट मशीन गनें, सब मशीन गन, टैंक को ध्वस्त करने वाली बारूदी सुरंगें इस्तेमाल करता रहा है.

हाल के दिनों पाकिस्तानी अखबार ‘जंग’ के मुल्तान में संवाददाता जफर अहीर 2006 में छोटू से सिंध नदी में स्थित टापू पर बने उनके ठिकाने में मिलने गए थे.

उनका कहना है कि गैंग के सदस्य भारी और हल्के दोनों तरह के हथियारों से लैस थे जिनमें विमानों को मार गिराने वाली बंदूक भी शामिल थी और ये छोटू के ठिकाने के करीब तैनात थी.

पुलिस का कहना है कि छोटू गैंग के खिलाफ जारी कार्रवाई में सात डाकू मारे गए हैं जिसमें छोटू का दायां हाथ पहलवान उर्फ पल्लू भी शामिल है.

पुलिसवालों की रिहाई के लिए स्थानीय कबाइली लोगों के जरिए बातचीत करने की कोशिश भी हो रही है.

खबरें हैं कि सेना छोटू गैंग के ठिकानों पर बमबारी कर रही है लेकिन जमीनी कार्रवाई शुरू नहीं की है.

इसकी एक वजह ये भी हो सकती है कि गैंग अगवा किए लोगों को अपनी ढाल के तौर पर इस्तेमाल कर रहा है.

छोटू के खिलाफ अपहरण, कत्ल, डकैतियों, पुलिस मुठभेड़ों, पुलिसवालों को अगवा करने, हथियार छीनने और वसूली करने के 95 मामले दर्ज हैं और उनके सिर पर 20 लाख रुपये का इनाम है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार