'उत्तर कोरिया ने किया मिसाइल परीक्षण'

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग इमेज कॉपीरइट afp

ऐसी ख़बरें आ रही हैं कि उत्तर कोरिया ने अपने उत्तरी तट से पनडुब्बी के जरिए बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया है.

इसकी जानकारी दक्षिण कोरिया ने दी है.

उत्तर कोरिया की मीडिया ने अब तक इस परीक्षण के बारे में कोई खबर नहीं दी है.

दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, "उत्तर कोरिया ने उत्तर- पूर्वी पोर्ट ऑफ सिन्पो के करीब स्थानीय समय के मुताबिक शाम साढे छह बजे के करीब प्रक्षेपण किया. माना जा रहा है कि ये पनडुब्बी से लॉन्च की जाने वाली बैलिस्टिक मिसाइल है." अगर ऐसा परीक्षण कामयाब हुआ हो तो इसे काफी अहम माना जाएगा. पनडुब्बी से दागी जाने वाली बैलिस्टिक मिसाइल का पता लगाना बेहद मुश्किल होता है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

परीक्षण की खबर ऐसे वक्त सामने आई है जब उत्तर कोरिया में अगले महीने नॉर्थ कोरियन वर्कर्स पार्टी कांग्रेस का आयोजन होना है. कांग्रेस का आयोजन 1980 के बाद पहली बार हो रहा है.

संयुक्त राष्ट्र ने साल 2006 से उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण और बैलिस्टिक मिसाइल तकनीक के इस्तेमाल संबंधी गतिविधियों पर प्रतिबंध लगाया हुआ है.

दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, "हम उत्तर कोरिया की सेना पर करीबी निगाह रखे हुए हैं और अपनी रक्षा के लिए तैयार हैं."

उत्तर कोरिया पहले इस तरह के परीक्षण करने के दावे कर चुका है लेकिन उन दावों पर सवालिया निशान हैं.

इमेज कॉपीरइट KCNA

अमरीका का कहना है कि दिसंबर में किए गए परीक्षण की तस्वीरों से छेड़छाड़ की गई लगती है. वहीं कुछ दूसरे लोगों का कहना है कि उत्तर कोरिया ने पनडुब्बी के बजाए पानी के अंदर बने प्लेटफॉर्म से मिसाइलें दागी थीं.

हालिया परीक्षण के बारे में दक्षिण कोरिया के ज्वॉइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ ने एक बयान में कहा कि मिसाइल ने करीब तीस किलोमीटर की दूरी तय की.

आम तौर पर पनडुब्बी से दागी जाने वाली बैलिस्टिक मिसाइल कम से कम तीन सौ किलोमीटर तक की दूरी तय कर सकती है.

उत्तर कोरिया अब तक चार परमाणु परीक्षण कर चुका है. इनमें से पहला परीक्षण 2006 में जबकि आखिरी इस साल जनवरी में किया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार