कीनिया ने सौ टन से ज़्यादा हाथी दांत जलाया

हाथीदांत इमेज कॉपीरइट EPA

कीनिया के राष्ट्रपति उहुरू केन्याटा ने अफ़्रीकी हाथियों को बचाने के लिए कीनिया की प्रतिबद्धता जताने के मकसद से हाथीदांत के बड़े ज़खीरे को जलाया है.

कीनिया के नैरोबी राष्ट्रीय उद्यान में जलाए गए करीब सौ टन से ज़्यादा हाथीदांत के कई दिन तक सुलगते रहने की संभावना है.

ये कीनिया में पकड़े गए हाथीदांत का पूरा ज़खीरा था जिसमें 6,700 हाथियों के दांत थे.

इमेज कॉपीरइट EPA

उहुरू केन्याटा ने कहा, "किसी को भी हाथीदांत के व्यापार से कोई लेना-देना नहीं होना चाहिए क्योंकि इस व्यापार का मतलब है हमारे हाथियों की मौत और हमारी प्राकृतिक विरासत की मौत."

इमेज कॉपीरइट EPA

कीनिया में अफ़्रीकी हाथीदांत के अवैध व्यापार को ख़त्म करने के लिए अफ़्रीकी देशों के नेताओं की बैठक के बाद हाथीदांत को जलाया गया.

विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि अफ़्रीकी हाथी एक दशक के भीतर लुप्त हो सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट EPA
इमेज कॉपीरइट EPA

बोस्टवाना जहां अफ़्रीकी हाथियों की करीब आधी संख्या पाई जाती है, वहां के राष्ट्रपति ने हाथीदांत को जलाने के विरोध में बैठक में हिस्सा नहीं लिया.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption इस ज़खीरे में नक्काशी की हुई हाथीदांत की मूर्तियां भी शामिल हैं.

हाथीदांत जलाने का विरोध करने वालों का कहना है कि इतनी दुर्लभ चीज़ को जलाने से इसका मूल्य बढ़ेगा और अवैध शिकारियों को प्रोत्साहन मिलेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार