पाक ने कहा एफ़16 पर बात ख़त्म नहीं हुई

  • 30 अप्रैल 2016
तारिक फातमी इमेज कॉपीरइट

पाकिस्तान सरकार के विदेश मामलों के सलाहकार तारिक़ फ़ातमी ने कहा है कि एफ़-16 विमानों की फ़ंडिंग के लिए कांग्रेस को राज़ी करने की ज़िम्मेदारी बराक ओबामा प्रशासन की है और यह सौदा अभी ख़त्म नहीं हुआ है.

बीबीसी उर्दू सेवा के रेडियो कार्यक्रम के एक साक्षात्कार में तारिक़ फ़ातमी ने इस बात को स्वीकार किया कि अमरीकी कांग्रेस में दूसरे देशों की सेना की फ़ंडिंग को लेकर मतभेद है लेकिन अमरीकी प्रशासन की ओर से पाकिस्तानी सेना को मदद की पेशकश अपनी जगह मौजूद है.

अमरीकी कांग्रेस ने एफ़-16 विमानों की ख़रीद के लिए अमरीकी सरकार की तरफ़ से पाकिस्तान को दी जाने वाली मदद को मंज़ूरी देने से इनक़ार कर दिया था.

इमेज कॉपीरइट AP

इन ख़बरों के बावजूद तारिक़ फ़ातमी ने भरोसा जताया है कि पाकिस्तान का मामला बहुत मज़बूत है और आतंकवाद के ख़िलाफ़ पाकिस्तान अपनी सेवाएं दे रहा है इसलिए पाकिस्तान को यह मदद दी जाएगी.

उन्होंने कहा कि अमरीकी प्रशासन से इस मामले पर बातचीत जारी है और पाकिस्तान के राजनयिक इस कोशिश में हैं कि कांग्रेस के सदस्यों से मुलाक़ात कर उन्हें पाकिस्तान के रुख़ से अवगत कराएं.

तारिक़ फ़ातमी ने कहा कि पाकिस्तान ने आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई में आठ एफ़-16 विमान के लिए अमरीका से गुज़ारिश की थी. और, ये विमान अहम भूमिका निभा सकते हैं और अमरीका को भी इस बात का अंदाज़ा है.

इमेज कॉपीरइट Getty

तारिक़ फ़ातमी ने कहा कि पिछले दो सालों में आतंकवाद के ख़िलाफ़ अभियान में पाकिस्तान सीमित संसाधनों में से दो अरब डॉलर ख़र्च कर चुका है.

उन्होंने कहा कि यह अभियान न केवल पाकिस्तान के हित में है बल्कि इसका फ़ायदा अमरीका और अफ़गानिस्तान के अलावा क्षेत्र के दूसरे देशों को भी मिल रहा है.

तारिक़ फ़ातमी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि अमरीकी प्रशासन कांग्रेस को राज़ी कर लेगा और अगर ऐसा नहीं भी हो पाया तो अमरीकी प्रशासन के पास और भी कई रास्ते हैं.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार