वो महान पर्वतारोही जिनके शव 16 साल न मिल पाए

  • 2 मई 2016
अमरीकी पर्वतारोहियों के शव मिले इमेज कॉपीरइट ALEX LOWE FOUNDATION

हिमालय में एक ग्लेशियर में 16 साल से बर्फ़ में दबे पड़े दो अमरीकी पर्वतारोहियों के शव मिले हैं.

जाने-माने पर्वतारोही एलेक्स लो और उनके कैमरामैन डेविड ब्रिजेज़ हिमालय में भूस्खलन की चपेट में आ गए थे.

ये दोनों 1999 में तिब्बत में 8,013 मीटर ऊंची शिशपांगमा चोटी पर चढ़ रहे थे जब ये हादसा हुआ.

पिछले हफ़्ते दो पर्वातरोहियों, डेविड गोएतलर और उएली स्टेक को इन दोनों के शव बर्फ में दबे मिले.

इमेज कॉपीरइट ALEX LOWE FOUNDATION

चालीस साल के लो अपने समय के सबसे महान पर्वतारोहियों में माने जाते थे और कई पर्वतारोहियों को बचाने के लिए याद किए जाते हैं.

शिशपांगमा दुनिया की 14वीं सबसे ऊंची चोटी है.

इमेज कॉपीरइट ALEX LOWE FOUNDATION

लो की मौत के बाद उनकी पत्नी जेनिफ़र लो ने कॉनरेड अंकर से शादी की थी, जो भूस्खलन के वक्त लो के साथ ही थे.

लो और डेविड के साथ आए बाकी पर्वतारोही बच गए थे और कई दिन तक दोनों को ढूंढते रहे थे.

कॉनरेड अंकर ने कहा, "उन्हें याक चराने वाले या किसी ट्रेकर ने नहीं ढूंढा. बल्कि डेविड और उएली दोनों ही एलेक्स और मेरी तरह पर्वतारोही थे."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार