अमरीका एफ़16 दे, नहीं तो किसी और से लेंगे: पाक

एफ़16 इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption अमरीका और पाकिस्तान के बीच आठ लड़ाकू विमानों की बात हुई थी, पर उसने कहा वो इसकी फंडिग नहीं करेगा

पाकिस्तान ने कहा है कि अमरीका अगर एफ़16 की ख़रीद के लिए उसे पैसे नहीं देता है तो वो लड़ाकू विमान कहीं और से ख़रीदने के विकल्प भी देख सकता है.

मीडिया ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अज़ीज़ के हवाले से ऐसा कहा है.

पाकिस्तान अमरीका से आठ एफ़16 विमान चाहता है जिसकी कुल कीमत 70 करोड़ डॉलर है. इससे पहले आ रही ख़बरों के मुताबिक पाकिस्तान को इसके लिए 27 करोड़ डॉलर देने थे और बाक़ी अमरीका की ओर से पूरा होना था.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक अब पाकिस्तान के पास ये विमान ख़रीदने के लिए केवल मई के अंत तक का समय है.

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक पाकिस्तान जानता है कि एफ़16 कारगर लड़ाकू विमान है लेकिन वो आतंकवाद विरोधी मुहिम में जेएफ़17 थंडर का इस्तेमाल भी कर सकता है.

पाकिस्तान के अख़बार डॉन ने कहा है कि सरताज अजीज़ ने ये बयान एक सेमिनार के दौरान मंगलवार को दिया.

Image caption जेएफ़17 थंडर चीन और पाकिस्तान की साझी परियोजना है.

अमरीका ने सोमवार को इस बात की पुष्टि कर दी कि वो पाकिस्तान को लड़ाकू विमान बेचने को तैयार है लेकिन इसके लिए वो किसी तरह की आर्थिक मदद नहीं देगा.

बीबीसी हिंदी ने इससे पहले ये ख़बर दी थी कि अमरीकी कांग्रेस ने पाकिस्तान को लड़ाकू विमानों की ख़रीद के लिए फंडिग से मना कर दिया है.

जेएफ़17 थंडर एवियेशन इंडस्ट्री कॉरपोरेशन ऑफ़ चाइना और पाकिस्तान एरोनौटिकल कॉम्पलेक्स का साझा कार्यक्रम है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें.आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार