'ट्रंप चुने गए तो रसातल में होगा अमरीका'

  • 4 मई 2016
डोनाल्ड ट्रंप और टेड क्रूज इमेज कॉपीरइट Getty

अमरीका में रिपब्लिकन पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी में शामिल टेड क्रूज़ और डोनाल्ड ट्रंप के बीच ज़ुबानी जंग तेज़ हो गई है.

इंडियाना प्राइमरी के पहले क्रूज़ और ट्रंप एक-दूसरे पर तीखे हमले कर रहे हैं.

टेड क्रूज़ ने कहा है कि अगर डोनाल्ड ट्रंप राष्ट्रपति बन गए तो अमरीका 'रसातल' में पहुंच जाएगा.

इसके पहले ट्रंप ने कहा था कि क्रूज के पिता का संबंध पूर्व राष्ट्रपति जॉन एफ़ केनेडी की हत्या करने वाले शख्स से था.

ट्रंप उम्मीदवारी की रेस में आगे चल रहे हैं. क्रूज़ के सलाहकार इंडियाना में ट्रंप की बढ़त को रोकना चाहते हैं.

हालांकि सर्वेक्षण ट्रंप की बढ़त दिखा रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty

क्रूज ने मंगलवार को ट्रंप पर हमला करते हुए उन्हें 'पूरी तरह अनैतिक, मनोविकार से ग्रस्त झूठा शख्स और लगातार ग़लतियां करने वाला' बताया.

इसके जवाब में ट्रंप ने कहा, "टेड क्रूज़ एक निराशा में घिरे उम्मीदवार हैं जो अपने लड़खड़ाते अभियान को संभालने की कोशिश कर रहे हैं. इसमें कोई हैरत नहीं है कि वो बेमतलब बयानबाजी के अपने जाने-पहचाने तरीके अपना रहे हैं जिन पर कोई भरोसा नहीं करता."

क्रूज़ और जॉन कैसिच ऐसी स्थिति की उम्मीद कर रहे हैं जहां वोटरों के बजाए पार्टी पदाधिकारी उम्मीदवार का चुनाव करें. कैसिच भी उम्मीदवारी की रेस में शामिल हैं.

अगर ट्रंप को इंडियाना में जीत मिली तो वो उम्मीदवारी के लिए जरूरी 1237 डेलीगेट्स का आंकड़ा हासिल कर लेंगे और तब उस स्थिति का सामना करने से बच जाएंगे.

इमेज कॉपीरइट Getty

ट्रंप ने सोमवार को अपने समर्थकों से कहा था कि वो अपना ध्यान आम चुनाव पर लगाने के लिए उत्सुक हैं.

उन्होंने एक रैली में कहा था, "आप जानते हैं कि अगर हमें जीत मिली तो मामला खत्म हो जाएगा और तब मैं अपना ध्यान लगा सकूंगा."

क्रूज़ को सीधे तौर पर उम्मीदवारी हासिल करने लायक डेलीगेट्स नहीं मिल पाएंगे लेकिन उन्हें उम्मीद है कि वो ट्रंप को डेलीगेट्स की जरूरी संख्या हासिल करने से रोक सकते हैं.

उन्होंने हालिया दिनों में इंडियाना में अपने संसाधन झोंक दिए हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty

उधर, सर्वे के मुताबिक डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी की रेस में शामिल हिलेरी क्लिंटन और बर्नी सेंडर्स के बीच इंडियाना में कड़ा मुक़ाबला है.

हालांकि अगर सेंडर्स को इंडियाना में जीत मिल भी गई तो इसका हिलेरी क्लिंटन पर कोई खास असर नहीं होगा. उनकी बढ़त काफी मजबूत है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार